17 OCTSUNDAY2021 5:09:25 AM
Nari

पितृ पक्ष में करें इन चीजों का दान, घर में आएगी शांति व खुशहाली

  • Edited By neetu,
  • Updated: 22 Sep, 2021 10:03 AM
पितृ पक्ष में करें इन चीजों का दान, घर में आएगी शांति व खुशहाली

पितृ व श्राद्ध पक्ष का आरंभ हो चुका है। इस दौरान लोग अपने पितरों की आत्मा की शांति के लिए श्राद्ध, तर्पण, पिंडदान आदि कर्म करते हैं। इसके साथ ही अन्य शुभ तिथियों की तरह इस दौरान भी दान का विशेष महत्व है। मान्यता है कि पितृ पक्ष में ब्राह्मण को कुछ खास चीजों का दान करने से पूर्वजों का आशीर्वाद मिलता है। घर में सुख-समृद्धि, शांति व खुशहाली का वास होता है। चलिए जानते हैं कि किन चीजों का दान करना चाहिए...

गुड़

पितृपक्ष में गुड़ का दान अवश्य करें। मान्यता है कि इससे पूर्वजों का आशीर्वाद मिलता है। घर का कलह-क्लेश व दरिद्रता दूर होती है। साथ ही धन व सुखों की प्राप्ति होती है।

PunjabKesari

गाय

हिंदू धर्म में गाय को देवी-देवताओं का रूप माना जाता है। इसलिए गाय का दान सबसे उत्तम माना जाता है। वहीं पितृपक्ष में किया गया का दान सुख, समृद्धि व धन वृद्धि देने वाला माना जाता है।

गाय का घी

श्राद्ध के दिन एक बर्तन में गाय का घी रखें। बाद में उसे दान कर दें। ऐसा करना घर-परिवार के लिए शुभ व मंगलकारी होता है।

अनाज

अन्न दान करना बेहद पुण्य का काम माना जाता है। पितृपक्ष में तो गेहूं व चावल दान करने का विशेष महत्व है। मगर कोई दूसरा अनाज भी दान कर सकते हैं। मान्यता है संकल्प लेकर अन्नदान करने से मनचाहा फल मिलता है।

PunjabKesari

वस्त्र

इस दौरान पितरों के नाम से ब्राह्मण या किसी जरूरतमंद को धोती, दुपट्टा सहित दो वस्त्र दान करें। इस बात का ध्यान रखें कि ये वस्त्र साफ और नए हो।

चांदी

चांदी को बेहद ही शुभ धातु माना जाता है। ऐसे में श्राद्ध में चांदी का दान करने से पितरों का आशीर्वाद व संतुष्टि मिलती है।

तिल

पितृपक्ष के हर कार्य में काले तिल का विशेष महत्व है। इसलिए इस दौरान तिल का दान करना भी शुभ माना जाता है। मान्यता है कि इससे संकट, परेशानियों से मुक्ति मिलती है।

PunjabKesari

नमक

पितृपक्ष में नमक का दान करना शुभ माना जाता है। मान्यता है कि इससे पितर प्रसन्न होते हैं।

जूते-चप्पल

इस दौरान जूते-चप्पल का दान करना भी शुभ माना जाता है। मान्यता है कि इससे पितरों का आशीर्वाद मिलता है। साथ ही घर में सुख-समृद्धि, शांति व खुशहाली का वास होता है।

 

 

 

Related News