23 OCTWEDNESDAY2019 1:41:53 AM
Nari

थायराइड की हैं ये 10 निशानियां, संकेत पहचानें और करें समय पर कंट्रोल

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 29 Jun, 2019 04:05 PM
थायराइड की हैं ये 10 निशानियां, संकेत पहचानें और करें समय पर कंट्रोल

थायराइड की समस्या विश्वभर में दिनों-दिन बढ़ती चली जा रही है। बच्चे, महिलाएं और पुरुष सब इसकी इसकी पकड़ में तेजी से चले आ रहे हैं। महिलाओं में यह समस्या पुरुषों के मुकाबले अधिक देखने को मिल रही है। इस बीमारी के संकेत इतने नार्मल हैं कि इसके बारें में लोगों को जल्दी पता ही नहीं चलता। तो चलिए डालते हैं इस बीमारी के संकेतों पर एक नजर...

थायराइड है क्या ?

थायरायड ग्रंथि गले में सांस नली के ऊपर, वोकल कॉर्ड के दोनों ओर दो भागों में होती है। इसका आकार तितली जैसा होता है । ये ग्रंथि थाइराक्सिन नामक हार्मोन बनाती है। जो हमारे शरीर को एनर्जी, प्रोटीन उत्पादन और अन्य हार्मोन्स के प्रति होने वाली संवेदनशीलता कंट्रोल करता है। जब यह हार्मोन जरुरत से कम या फिर ज्यादा काम करने लगता है तो उसे डॉक्टरी भाषा में थायराइड की बीमारी लग जाना कहते हैं। महिलाओं में कुछ सामान्य लक्षणों के द्वारा इस बीमारी को पहचाना जा सकता है। अगर सही समय से इस बीमारी का पता चल जाए तो इसका इलाज अच्छी तरह किया जा सकता है।

PunjabKesari

आखिर महिलाएं ही क्यों बन रही हैं शिकार ?

अधिक स्ट्रेस के चलते

महिलाएं ज्यादातर घर या ऑफिस की बातों की टेंशन लेकर बैठ जाती है। जिससे उनकी थायराइड ग्रंथि पर बुरा प्रभाव पड़ता है। जो आगे चलकर खायराइड की समस्या का कारण बन जाता है। 

दवाइयों का साइड इफेक्ट

जो महिलाएं बर्थ कंट्रोल पिल्स का ज्यादा इस्तेमाल करती हैं उन्हें इस परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। कभी किसी दवाई के साइड इफेक्ट के कारण भी महिलाओं को थायराइड की समस्या हो जाती है।

आयोडीन की कमी 

ज्यादातर महिलाएं काम के कारण अपने खानपान पर ध्यान नहीं देती हैं। जिसके कारण शरीर में आयोडीन और दूसरे जरूरी पोषक तत्वों की कमी हो जाती है। जो आगे चलकर थायराइड की समस्या का कारण बनती हैं।

PunjabKesari

प्रेगनेंसी के दौरान 

प्रेगनेंसी के दौरान वजन बढ़ने का कारण भी कई महिलाएं थायराइड का शिकार हो जाती है। साथ ही इस दौरान महिलाओं के शरीर में कई प्रकार के हार्मोनल बदलाव आते हैं जिस वजह से थायराइड की समस्या हो जाती है।

थायराइड के लक्ष्ण

थकावट और कमजोरी महसूस करना

कमजोरी और थकान भी थायराइड का एक प्रमुख लक्षण है। मेटाबॉलिज्म पर थायरॉक्सिन के प्रभाव से जब खाना पूरी तरह एनर्जी में नहीं बदल पाता, तो शरीर में ऊर्जा की कमी होने लगती है और आपको थकान और कमजोरी शुरू हो जाती है। हालांकि महिलाओं में कमजोरी और थकान का कारण एनीमिया भी हो सकता है। इसलिए अगर आपको ऐसे लक्षण दिखें तो एक बार डॉक्टर से जरुर परामर्श कर लें। 

पीरियड्स की अनियमितता

नार्मल महिलाओं को पीरियड्स 28 दिनों के भीतर आ जाते हैं लेकिन थायराइड से ग्रस्त औरतों को पीरियड्स 30 से 35 दिनों के बाद आते हैं। 

रुखी-सूखी त्वचा

थायराइड की वजह से त्वचा भी रुखी रहने लगती है। कई महिलाओं को बालों के झड़ने की समस्या भी सताती है साथ ही बालों में रुसी भी बहुत होती है। 

PunjabKesari

बेवजह ख्यालों में खोए रहना 

थायराइड की बीमारी के कारण आपको डिप्रेशन भी हो सकता है। अगर थायराइड ग्रंथि कम मात्रा में थायरॉक्सिन उत्पन्न करती है तो इससे डिप्रेशन यानि अवसाद वाले हार्मोन एक्टिव हो जाते हैं। डिप्रेशन की वजह से आपको रात में सोने में भी परेशानी होने लगती है।

दिल की धड़कन का बढ़ना

अगर आपको हाइपरथायरॉइडिज्म हो गया है तो इसके गंभीर परिणाम निकल सकते हैं। थोड़ा सा चलने पर थकावट महसूस करने के साथ-साथ दिल की धड़कन का तेज हो जाना भी थायराइड का ही लक्ष्ण है। 

खाना पचाने में परेशानी

भूख लगने पर भी खाना न खाया जाना, या फिर खाने को पचने में समय लगना भी इसी बीमारी के लक्ष्ण हैं। 

बातें भूल जाना

थायराइड के कारण आपकी स्मरण शक्ति और सोचने-समझने की क्षमता पर भी प्रभाव पड़ता है। इस कारण से आपकी याददाश्त कमजोर हो सकती है। 

PunjabKesari

पेट से जुड़ी समस्याएं

थायराइड होने पर पेट की गड़बड़ियां जैसे कब्ज आदि की समस्या शुरू हो जाती है। खाना पचाने के साथ-साथ खाने के हल्क से नीचे उतारने में भी परेशानी का सामना करना पड़ता है। 

चिड़चिड़ापन महसूस करना

थायराइड की समस्या में व्यक्ति का स्वभाव चिड़चिड़ा हो जाता है। बात-बात पर गुस्सा करना या फिर मजाक का बुरा मान कर बैठ जाना थायराइड के ही लक्ष्णों में से एक लक्ष्ण है। 

सर्दी-गर्मी बर्दाश्त न होना

थायराइड से प्रभावित इंसान न तो ज्यादा गर्मी बर्दाशत कर सकते हैं और न ही सर्दी। कई बार तो सर्दियों में थायराइड से पीड़ित व्यक्तियों के पूरे शरीर पर सूजन भी हो जाती है। 

यदि आप समय रहते इन लक्ष्णों से थायराइड की पहचान कर लेते हैं तो भविष्य में खुद को इस बीमारी से होने वाले अन्य नुकसानों से बचा कर रख सकते हैं। 

Related News