13 JULSATURDAY2024 4:53:52 AM
Nari

गर्मियों के साथ ही बढ़ जाता है Dengue का खतरा! ये रहे लक्षण और बचाव के तरीके

  • Edited By Charanjeet Kaur,
  • Updated: 26 Aug, 2023 11:16 AM
गर्मियों के साथ ही बढ़ जाता है Dengue का खतरा! ये रहे लक्षण और बचाव के तरीके

गर्मी का मौसम अपने साथ कई सारी बीमारियां लेकर आता है। इस मौसम में सबसे ज्यादा डेंगू का प्रकोप देखने को मिलता है। इन दिनों में मच्छर काफी तेजी से पनपते हैं और लोगों को संक्रामित करते हैं। डेंगू का बुखार एडीज के मच्छर काटने से होता है। ये एक फ्लू जैसी बीमारी है, जो डेंगू वायरस के कारण होती है।  Rajiv Gandhi Centre for Biotechnology में हुई एक स्टडी में भी इस बात का खुलासा हुआ है की temperature बढ़ने के साथ-साथ डेंगू का खतरा भी बढ़ जाता है क्योंकि तेज गर्मी में डेंगू वायरस काफी  जल्दी फैलता है। ये दुनिया के लाखों लोगों को गर्मी के मौसम में प्रभावित करता है, जिनसे बच्चे भी असुरक्षित हैं। डेंगू का ये बुखार ज्यादातर लोगों में अपने आप ही चला जाता है। इस बुखार में नाक और मसूड़ों से खून बहना, लीवर का बढ़ना और यहां तक कि संचार प्रणाली के फेल होने जैसी गंभीर समस्याएं भी हो सकती हैं। आइए आपको बताते हैं डेंगू के कारम, लक्षण और बचाव के तरीके...

PunjabKesari

डेंगू के लक्षण

-सिरदर्द
-मांसपेशियों, हड्डियों और जोड़ों में दर्द
-उल्टी
-जी मिचलाना
-आंखों में दर्द होना
-त्वचा पर लाल चकत्ते होना
-ग्लैंड्स में सूजन होना

डेंगू होने के कारण

डेंगू पीड़ित क्षेत्र में रहना

यदि आप उन क्षेत्रों में रहते हैं, जहां एडीज मच्छरों का प्रकोप अधिक है, तो आपके डेंगू से संक्रमित होने की संभावना स्वाभाविक रूप से बढ़ जाती है।

PunjabKesari

पहले से ही डेंगू का संक्रमण होना

जिन लोगों को पहले डेंगू हो चुका है, उनमें वायरल संक्रमण से प्रतिरक्षा नहीं हो पाती है। ऐसे में जब आपको दूसरी बार डेंगू होता है, तो ज्यादा गंभीर रूप से प्रभावित होने की संभावना बढ़ जाती है।

Immunity कमजोर होना

जिन लोगों की Immunity कमजोर होती है, उनमें भी डेंगू होने की संभावन अधिक होती है। ऐसे में बुजुर्ग लोग डेंगू के प्रति अधिक संवेदनशील होते हैं। साथ ही, Diabetes, lung diseases और हार्ट से जुड़ी बीमारियों की आशंका बढ़ जाती है।

PunjabKesari

लो प्लेटलेट काउंट

डेंगू का खतरा तब और ज्यादा बढ़ जाता है जब जब पीड़ित व्यक्ति के रक्त में प्लेटलेट (थक्का बनाने वाली कोशिकाएं) काउंट काफी कम होने लगता है। ऐसे में यदि आपका प्लेटलेट काउंट का स्तर पहले से ही कम है, तो दूसरों की तुलना में डेंगू से जल्दी संक्रमित हो सकते हैं।
 
डेंगू का इलाज

मच्छरों के प्रजनन क्षेत्रों पर लगाएं रोक

डेंगू के प्राथमिक सोर्स होते हैं एडीज मच्छर जो की रुके हुए पानी में पनपते हैं। आपके घर में मच्छरों के प्रजनन के जोखिम को कम करने के लिए घर में जहां पानी भरा हुआ है उन स्थानों को खत्म करें और रुके हुए पानी को तुरंत साफ करें। साथ ही नाली और पानी निकलने वाले पाइपों की भी सफाई करें।

करें कीट नाशकों का इस्तेमाल

खुली त्वचा पर मच्छर भगाने वाली क्रीम लगाने से मच्छर के काटने की संभावना काफी कम हो सकती है। अगर आपके एरिया या घर में मच्छर ज्यादा हैं तो मच्छर से बचाने वाली क्रीम का उपयोग करें। ध्यान रखें कि उनमें DEET, पिकारिडिन, सिट्रोनेला और नींबू नीलगिरी का तेल जरूर शामिल हों।

PunjabKesari

फुल स्लीव्स वाले कपड़े पहनें

अपने बच्चों के साथ-साथ आप खुद भी लंबी बाजू वाली शर्ट, लंबी पैंट, मोजे पहनें। वहीं हल्के रंग के कपड़े भी मच्छरों को आपसे दूर रखते हैं।

PunjabKesari

खिड़की- दरवाजों को रखें बंद

मच्छरों को घर में आने से रोकने के लिए खिड़कियां और दरवाजे बंद रखें, साथ ही मच्छरदानी का उपयोग करें। ये मच्छर से बचाने के लिए सबसे अच्छा उपाय हो सकते हैं। इसके अलावा, घर के अंदर ठंडा वातावरण बनाए रखने के लिए पंखे या एयर कंडीशनिंग का उपयोग करें क्योंकि ठंडे मौसंम में मच्छरों की गतिविधि कम हो जाती है। 

ज्यादा बाहर जाने से बचें

शाम के समय मच्छर सबसे ज्यादा एत्टिव होते हैं, तो ऐसे समय में बाहर जिस एरिया में पानी भरा हो, वहां जाने से बचें। अगर बाहर निकलना जरूरी है तो फुल स्लीव्स वाले कपड़े पहने और मच्छर से बचाने वाली क्रीम लगाकर ही जाएं।

Related News