Twitter
You are hereNari

सर्वाइकल की शुरुआत है गर्दन दर्द, लक्षण पहचान करें इलाज

सर्वाइकल की शुरुआत है गर्दन दर्द, लक्षण पहचान करें इलाज
Views:- Friday, September 21, 2018-1:35 PM

कुछ देर सिर झुकाकर काम करने से कई लोगों के कंधे और गर्दन में दर्द होने लगता है।कई बार तो इस सहन न होने वाले दर्द से गर्दन पर सूजन भी आ जाती है। गर्दन में होने वाले इस दर्द का कारण सर्वाइकल डिजेनरेटिव डिस्क रोग हो सकता है। पुरुषों से ज्यादा महिलाएं इस बीमारी का ज्यादा शिकार होती हैं। शारीरिक कमजोरी, बढ़ती उम्र, पीरियड्स, प्रेगनेंसी और हार्मोनल बदलाव, खराब लाइफस्टाइल, उठने-बैठने का गलत तरीका आदि इसकी मुख्य वजहें हैं। 

 

क्या है लक्षण
सर्वाइकल डिजेनरेटिव डिस्क रोग के लक्षणों को जानकर इससे राहत पाई जा सकती है। 

1. गर्दन में खिंचाव। 
2. गर्दन छुकाने और हिलाने में दर्द होना। 
3. जकड़न महसूस होना। 
4. चक्कर और उल्टिया आना। 
5. सिर में पीछे की ओर दर्द का होना। 
6. कंधों में दर्द और जकड़न पैदा होना
7. हाथों में सुन्नपन होना। 
8. बीमारी के बढ़ने पर चक्कर और उल्टियां भी हो सकती है। 

 

कारण
सर्वाइकल डिजेनरेटिव डिस्क रोग का कारण गर्दन की डी-जेनरेशन वाली नसों पर दबाव पड़ना है। ये दबाव आमतौर पर ज्यादा काम करने, भारी बोझ उठाने, हड्डियों के कमजोर होने, लगातार काम करने, सिर झुकाकर काम करने, सिर झुकाकर लगातार पढ़ने और गर्दन पर किसी चोट के कारण हो सकता है। 

PunjabKesari

इलाज
इस दर्द को ठीक करने के लिए कैस्टर ऑयल थेरैपी या हॉट एंड कोल्ड थेरैपी बेहतर है। इन थैरेपीज से गर्दन की मांसपेशियों व टिशूज को लचीला बनाया जाता है जिससे डिसार्डर टिशूज का एलाइनमेंट किया जाता है। इस थैरेपी को एक या दो बार करने से डिस्क के नर्व पर पड़ने वाला दबाव कम हो जाता है और गर्दन में पहले की तरह लचीलापन आ जाता है। इसके अलावा हल्की एक्सरसाइज करने से दर्द कम होने लगता है।

PunjabKesari
 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
Edited by: