27 JUNMONDAY2022 1:21:31 AM
Nari

औरतों क्यों हो रही Cervical Cancer की शिकार, जानिए कैसे रखें बचाव

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 01 Jun, 2021 03:02 PM
औरतों क्यों हो रही Cervical Cancer की शिकार, जानिए कैसे रखें बचाव

कैंसर एक ऐसी जानलेवा बीमारी है जो व्यक्ति को मौत के दरवाजे तक ले जाती है। खासकर भारतीय महिलाओं में। भारतीय महिलाओं में आमतौर पर सर्वाइकल, ब्रेस्ट, यूट्रस, कोलोरेक्टल, अंडाशय का कैंसर पाया जाता है। सर्वाइकल कैंसर गर्भाशय ग्रीवा से शुरू होकर लिवर, ब्लैडर, योनि, फेफड़ों और किडनी तक फैल जाता है। आंकड़ों की मानें तो यह ब्रेस्ट कैंसर के बाद 50% महिलाओं में मौत का दूसरा सबसे बड़ा कारण है।

सर्वाइकल कैंसर क्या है?

गर्भाश्य ग्रीवा एक सरफेस से कवर होती है, जिसके सेल्स में कैंसर कोशिकाएं असामान्य रूप से बढ़ने लगती है। यह बीमारी ज्यादातर ह्यूमन पैपीलोमा वायरस के कारण होती है। एक सर्वे के मुताबिक, भारत में सर्वाइकल कैंसर से हर 8 मिनट में एक महिला की मृत्यु हो जाती है, जिसका सबसे बड़ा कारण जागरूकता की कमी है जबकि इसे पूरी तरह से ठीक किया जा सकता है। 

PunjabKesari

किन महिलाओं को अधिक खतरा?

30-45 की उम्र में महिलाओं को सर्वाइकल कैंसर का सबसे अधिक खतरा होता है। इसके अलावा 

. गर्भनिरोधक गोलियों का अधिक सेवन करना
. अल्कोहल और सिगरेट पीना
. एचपीवी संक्रमण के कारण
. ह्यूमन पैपीलोमा वायरस
. कम उम्र में मां बनना
. बार-बार प्रेग्नेंट होना
. और असुरक्षित यौन संबंध बनाने के कारण महिलाएं इस बीमारी की चपेट में जल्दी आ जाती हैं।

PunjabKesari

सर्वाइकल कैंसर के लक्षण

- पीरियड्स अनियमित
- असामान्य रक्तस्राव
- व्हाइट डिस्चार्ज
- बार-बार यूरिन आना
- पेट के निचले हिस्से व पेडू में दर्द या सूजन
- बुखार, थकावट
- भूख न लगना
- वैजाइना से लाइट पिंक जेलनुमा डिसचार्ज

सबसे जरूरी चेकअप

सर्वाइकल कैंसर से बचने के लिए सबसे जरूरी है नियमित चेकअप। महिलाओं को चाहिए कि वह साल में 2 या 3 साल में 1 बार पैप स्मीयर टेस्ट करवाएं, ताकि समय रहते इस बीमारी का पता लगाया जा सके। इसके अलावा HPV इंजेक्शन लगाना ना भूलें।

PunjabKesari

असुरक्षित शारीरिक संबंध

असुरक्षित शारीरिक संबंध बनाने से बचे और एक से ज्यादा पार्टनर के साथ संबंध ना बनाएं।

नशीली वस्तुओं से दूर रहें

धूम्रपान, शराब जैसी नशीली वस्तुओं से जितना हो सके दूरी बनाकर रखें। इनमें निकोटीन होता है, जो गर्भाशय-ग्रीवा में जमा होकर कैंसर सेल्स को बढ़ावा देता है।

हैल्दी डाइट लें

अपनी डाइट में फल, सब्जियां, डेयरी प्रोडक्ट्स, फाइबर फूड्स, साबुत अनाज, दही, सूखे मेवे, बीन्स आदि अधिक लें। साथ ही जंक फूड्स और बाहरी चीजों से दूरी बनाकर रखें।

योग व एक्सरसाइज

रोजाना 30 मिनट एक्सरसाइज और योग करें। इसके अलावा फिजिकल एक्टिविटी भी ज्यादा से ज्यादा करें और भोजन के बाद भी 10 मिनट जरूर टहलें।

मोटापा करें कंट्रोल

सबसे जरूरी बात अपना मोटापा कंट्रोल में रखें क्योंकि यह सिर्फ कैंसर ही नहीं बल्कि कई बीमारियों की जड़ है।

PunjabKesari

Related News