Twitter
You are hereNari

महिलाओं को रहता है इन 5 तरह के कैंसर का खतरा, जानिए इनसे जुड़े लक्षण

महिलाओं को रहता है इन 5 तरह के कैंसर का खतरा, जानिए इनसे जुड़े लक्षण
Views:- Saturday, June 23, 2018-5:13 PM

कैंसर ऐसी बीमारी हैं, जो व्यक्ति को मौत के दरवाजे तक ले जाती है। वैसे तो यह समस्या महिला और पुरुष दोनों को हो सकती है लेकिन आजकल यह समस्यां महिलाओं में ज्यादा देखने को मिल रही है। महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर, सर्वाइकल कैंसर, कोलोरेक्टल कैंसर, ओवेरियन कैंसर और मुंह का कैंसर होने की शिकायत ज्यादा पाई जाती है। महिलाओं में कैंसर का पता देर से चलने का कारण जागरूकता की कमी है। कैंसर का पता अगर जल्दी चल जाए तो इसका इलाज किया जा सकता है। आज हम आपको कुछ महिलाओं में होने वाले कैंसर और उनके ऐसे संकेत बताएंगे, जिससे कि आप फर्स्ट स्टेज पर ही कैंसर की पहचान कर सकती हैं। अगर आपको शरीर में इस तरह के बदलाव दिखें तो तुरंत चेकअप करवाएं।

 
महिलाओं में होने वाले कैंसर और उनके लक्षण
1. ब्रेस्ट कैंसर
आज के समय में महिलाएं कम उम्र में ही ब्रेस्ट कैंसर का शिकार हो रही हैं। यह स्तन में असामान्य कोशिकाओं के म्युटेशन बढ़ने से होता है। ये कोशिकाएं मिलकर पहले एक ट्यूमर बनाती हैं। ब्रेस्ट कैंसर होने पर निप्पल का धंसा हुआ होना, स्तन पर गुठलिया बनना, त्वचा का लाल होना, बगल में गांठ पड़ना, स्तन के कुछ हिस्से में सूजन या निप्पल्स से खून निकलना जैसे लक्षण दिखाई देते हैं, जो पीरियड्स के बाद भी बने रहते हैं।

PunjabKesari

2. सर्वाइकल (ग्रीवा) कैंसर
एक रिपोर्ट के मुताबिक, सर्वाइकल कैंसर के कारण हर साल करीब 63,000 महिलाओं की मौत हो जाती है। यह कैंसर गर्भाशय ग्रीवा से शुरू होता है, जो धीरे-धीरे शरीर के दूसरे हिस्सों में फैलता है। सर्वाइकल कैंसर में उस समय तक लक्षण नहीं दिखते, जब तक यह बढ़ी हुई अवस्था में न पहुंच जाए। मगर फिर भी कई बार सर्वाइकल कैंसर में संबंध बनाने के बाद योनि से रक्त स्राव, पीरियड साइकल के बीच में खून दिखना, सामान्य से ज्यादा पीरियड होना, असामान्य डिस्चार्ज और पेट के निचले हिस्से में दर्द रहने जैसे लक्षण दिखाई देते हैं।

PunjabKesari

3. कोलोरेक्टल कैंसर
महिलाओं में होने वाला यह तीसरा सबसे खतरनाक कैंसर है, जो बड़ी आंत को प्रभावित करता है। इसमें डायरिया या कब्ज समेत पेट का व्यवहार बदलना, या मल में बदलाव (जो चार हफ्ते से ज्यादा रहे) जैसे लक्षण दिखाई देते हैं। इसके अलावा कोलोरेक्टल कैंसर के दौरान मल से खून आना, पेट में दर्द रहना, वजन का घटना, कमजोरी और थकान जैसी समस्याए भी होने लगती है।

PunjabKesari

4. ओवेरियन (अंडाशय) कैंसर
वैसे तो यह कैंसर 55- 65 साल की उम्र में अधिक होता है लेकिन आजकल महिलाओं को यह कैंसर कम उम्र में हो जाती है। ज्यादा महिलाओं को यह कैंसर जेनेटिक प्रॉब्लम के कारण होता है। पेट के निचले हिस्से में दर्द, अपच, बार- बार पेशाब आना, भूख न लगना, पेट के व्यवहार में परिवर्तन, पेट में सूजन और पेट का फूलना इस कैंसर के प्रमुख लक्षण हैं।

PunjabKesari

5. मुंह का कैंसर
तंबाकू या शराब के ज्यादा सेवन से होने वाला यह कैंसर महिलाओं और पुरूषों में सामान्य रूप से होता है। इस कैंसर के लक्षण हैं मुंह में लाल या सफेद निशान, गांठ बनना या होंठों या मसूड़ों की खराबी। कई बार मुंह का कैंसर होने पर सांस की बदबू, दांतों का कमजोर होना और वजन का कम होना जैसे लक्षण भी दिखाई देते हैं।

PunjabKesari


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
फैशन, ब्यूटी या हैल्थ महिलाओं से जुड़ी हर जानकारी के लिए इंस्टाल करें NARI APP