31 OCTSATURDAY2020 10:33:19 AM
Nari

कोरोना के बाद अब चीन में फैल रही नई बीमारी, 3000 लोग हुए संक्रमित

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 18 Sep, 2020 04:17 PM
कोरोना के बाद अब चीन में फैल रही नई बीमारी, 3000 लोग हुए संक्रमित

चीन के वुहान शहर से फैले कोरोना वायरस का कहर अभी खत्म नहीं हुआ कि अब देश एक ओर महामारी की तरफ बढ़ रहा है। कुछ महीने पहले चीन में हंता और टिक बोर्न वायरस फैलने की खबर सामने आई थी। अब कहा जा रहा है कि चीन में ब्रूसिलोसिस (Brucellosis) नाम की इस बीमारी फैल रही है। चीन के उत्तर-पश्चिमी इलाके में हजारों लोग इस खतरनाक बैक्टीरिया की चपेट में आ चुके हैं।

क्या है ब्रूसिलोसिस?

ब्रूसिलोसिस को माल्टा (Malta) और मेडिटेरेनियन (Mediterranean) फीवर भी कहा जाता है। जानवरों/पशुओं के शरीर में पल रहे बैक्टीरिया से इंसानों में फैलती है। रिपोर्ट के मुताबिक, चीन में 3245 लोग इसकी चपेट में हैं। हालांकि अभी तक इस इंफैक्शन से किसी की मौत होने की खबर सामने नहीं आई है।

PunjabKesari

ब्रूसिलोसिस के लक्षण

. तेज सिरदर्द
. मांसपेशियों में दर्द
. थकान
. जोड़ों में दर्द
. बुखार
. वजन कम होना

कई गंभीर मामलों में मरीज को पेट दर्द और खांसी की शिकायत भी हो सकती है।

PunjabKesari

क्या ये बीमारी संक्रामक होती है?

फिलहाल, इस बात की कोई पुष्टि नहीं की गई है। CDC (रोग नियंत्रण एवं निवारण केंद्र) का कहना है कि इंसानों के बीच यह इंफैक्शन बहुत दुर्लभ है। ये वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में संक्रमित व्यक्ति के हवा में सांस लेने या उसके साथ खाना खाने से फैल सकता है।

क्या लाइलाज है ये बीमारी

फिलहाल में चीन में ब्रूसिलोसिस मरीजों को एंटी-बियोटिक्स देकर ठीक किया जा रहा है। अभी इस बात की जानकारी नहीं मिली है कि यह कोरोना वायरस जितना खतरनाक है या नहीं।

चीन में तेजी से बढ़ रहे मामले

गौरतलब है कि चीन में इस वायरस की शुरूआत एक दवाई बनाने वाली कंपनी से हुई है, जो Brucellosis के टीके बना रही थी। खबरों के मुताबिक, फैक्ट्री के कर्मचारी वहां, एक्सपायर हो चुके डिसइन्फेक्टेंट का यूज कर रहे थे, जिसकी वजह से गैस फिल्टर नहीं हो पाई और वो इसकी संपर्क में आकर संक्रमित हो गए। दवा कंपनी को माफीनामा और जुर्माना देने के लिए कहा गया है।

PunjabKesari

बता दें कि दिसंबर महीने में इस बीमारी के 180 केस सामने आए थे, जिसके बाद फरवरी में भी इसका मामले रिकॉर्ड किए गए। लोगों को डर है कि कहीं कोरोना की तरह यह बैक्टीरियल इंफैक्शन भी दुनियाभर में कहर ना मचा दें। हालांकि कोरोना के मुकाबले यह बीमारी उतनी तेजी से नहीं फैल रही।

Related News