04 JUNTHURSDAY2020 5:27:28 AM
Nari

कोरोना वायरसः नवजात के लिए रक्षा कवच बना मां का दूध, ठीक हुआ बच्चा

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 10 May, 2020 04:16 PM
कोरोना वायरसः नवजात के लिए रक्षा कवच बना मां का दूध, ठीक हुआ बच्चा

कोरोनावायरस का प्रकोप बढ़ता जा रहा है ऐसे में अभी तक इसकी कोई दवा भी सामने नही आई है हालाकि बहुत सारी वैक्सीन का अभी ट्रायल जारी है। कोरोना वायरस हर उम्र के वर्ग को अपनी चपेट में ले रहा है ऐसे में शनिवार को एक राहत भरी खबर आई। न्यूयार्क के इकैन स्कूल ऑफ मेडिसिन के विशेषज्ञों का कहना है कि मां का दूध पीने वाले बच्चे का वायरस कुछ नही बिगाड़ सकता। इसका कारण ये है कि मां के दूध में वो एंटीबॉडी मिले है जो शिशु को संक्रमण से बचा सकते है। शोध में ये बात सामने आई कि संक्रमण के दौरान या बाद में मां शिशु को दूध पिला सकती है क्योकि मां के दूध के जरिए शिशु में संक्रमण का खतरा नही हो सकता। 

PunjabKesari

मां के दू़ध में है बेहद शक्ति 

माउंट सिनाई स्कूल ऑफ मेडिसिन में असिस्टेंट प्रोफेसर रिबेका पावेल और उनकी टीम ने शोध में ये माना है कि मां के दूध में कोरोना से लड़ने की क्षमता बहुत ज्यादा होती है। विशेषज्ञों का अनुमान है कि मां के दूध में जो मौजूदा एंटीबॉडी होते है उससे वायरस से लड़ने का रास्ता ढूंढा जा सकता है क्योकि मां के दूध में मौजूद एंटीबॉडी कोरोना से लड़ने में मददगार साबित हो सकते है। 

इस अध्ययन में कोरोना से ठीक हुई 15 महिलाओं पर इसका अध्ययन किया गया और 80 फीसद महिलाओं में वो एंटीबॉडी पाए गए। ये एंटीबॉडी इतने शक्तिशाली है कि ये फ्लू जैसी बिमारी से लड़ने में काफी सक्षम है। डॉक्टरों के मुताबिक अगर बच्चा बिमार है या फिर कोरोना संक्रमित है तो भी मां पूरी सावधानी के साथ अपने शिशु को दुध पिलाए। 

PunjabKesari
इतना ही नही बल्कि यूपी के बस्ती जिले में नवजात को कोरोना संक्रमित पाया गया और उसे मां के साथ ही गोरखपुर के मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया और मां अपने बच्चे को दूध पिलाती रही। डॉक्टरों ने कहा कि मां के दूध से बढ़ी हुई आत्म प्रतिरक्षा के कारण बच्चा बिना किसी दवा के 13 दिन के अंदर ही ठीक हो गया।

Related News