20 MARWEDNESDAY2019 4:19:00 AM
Nari

Women Health: बैलेंस में रहेंगे Hormones अगर डाइट में खाएंगे ये 8 सुपरफूड्स

  • Edited By Sunita Rajput,
  • Updated: 15 Mar, 2019 11:49 AM
Women Health: बैलेंस में रहेंगे Hormones अगर डाइट में खाएंगे ये 8 सुपरफूड्स

शारीरिक क्रिया को सुचारू रूप से चलाने के लिए शरीर में हार्मोंनल संतुलन होना जरूरी हैं। मगर अधिकतर महिलाओं के हार्मोन अच्छी डाइट न लेने, दवाइयों के सेवन, ज्यादा तनाव या अन्य कई कारणों से इम्बैलेंस हो जाते हैं। हार्मोन इम्बैलेंस के कारण महिलाओं के शरीर पर काफी नकारात्मक असर पड़ता हैं। अधिकतर महिलाओं को यह समस्या 40 से 50 की उम्र में देखने को मिलती है। वहीं, कुछ महिलाओं को लगता है कि मेनोपॉज के कारण होती है हार्मोन असंतुलित होते है लेकिन इनके अन्य कई कारण भी है। तो आइए जानते हैं हार्मोन असंतुलन होने के कारण महिलाओं के शरीर में क्या संकेत दिखते हैं और इन्हें कैसे बैलेंस रखना जा सकता हैं। 

 

हार्मोन असंतुलन क्या है?  

जब ब्लडस्ट्रीम में हार्मोन बहुत अधिक या बहुत कम हो जाता है तो इस स्थिति को हार्मोन असंतुलन कहते हैं। दरअसल, हार्मोन शरीर के केमिकल घटक होते हैं जिनसे शरीर में कई ग्रंथियां बनती हैं। ये शक्तिशाली केमिकल खून के साथ पूरे शरीर में फैले होते हैं जो ऊतकों व अंदरूनी अंगों को उनके काम करने में मदद करते हैं और शरीर में मुख्य प्रक्रियाओं जैसे मेटाबॉलिज्म और प्रजनन आदि को कंट्रोल करने में मदद करते हैं। इसलिए हार्मोन असंतुलन की समस्या होने पर पूरे शरीर पर इनका प्रभाव पड़ता है। मगर आप डाइट में कुछ बदलाव करके इनको बैलेंस रख सकती हैं। 

PunjabKesari

हार्मोन इम्बैलेंस के लक्षण

ज्यादा गुस्सा आना
तनाव महसूस होना
इंटरकोर्स में अरूचि
याददाश्त कमजोर होना
वजन बढ़ना
अनियमित पीरियड्स
त्वचा पर पिंपल्स
नींद आना और थकावट महसूस होना
ज्यादा भूख लगना

 

हार्मोन बैलेंस करने वाले 8 फूड्स
नारियल तेल

नारियल पानी की तरह नारियल तेल भी सेहत के लिए काफी फायदेमंद होता हैं। नारियल तेल से पका खाना खाने से शरीर में हार्मोन बैलेंस होने लगता है। इसके अलावा हार्मोन असंतुलन की वजह से शरीर में जो चर्बी बढने लगी थी वो भी नारियल तेल के इस्तेमाल से कम होने लगती हैं। 

 

पर्याप्त पानी 

पानी न सिर्फ हमारे चेहरे पर ग्लो लाता है बल्कि दिन में 8-9 गिलास पानी पीने से कई हैल्थ प्रॉबल्म भी दूर रहती हैं। इससे शरीर हाईड्रेट रहता है और उसका स्‍ट्रेस लेवल भी कम होता है। तनाव यानी स्‍ट्रेस, इम्बैलेंस का सबसे बड़ा कारण है जिसे पर्याप्त मात्रा में पानी पीकर कम किया जा सकता हैं।  

 

मुट्ठीभर मेवे

मेवे जैसे बादाम, अखरोट, काजू, पिस्ता आदि में भरपूर मात्रा में प्रोटीन होता है, जो महिला और पुरुषों के लिए बेस्ट डाइट हैं। इनका नियमित सेवन करने से हार्मोन की गड़बड़ी भी ठीक हो जाती हैं। इसलिए अपनी डाइट में मुट्ठीभर मेवे शामिल जरूर करें। 

PunjabKesari

हरी पत्तेदार सब्जियां 

हरी पत्तेदार सब्जियां और बींस में काफी मात्रा में कार्बोहाइड्रेट और फाइबर होता हैं जो हार्मोन इम्बैलेंस तो ठीक करने में मदद करते हैं। इसके अलावा इनसे सेहत भी अच्छी बनी रहती हैं। 

PunjabKesari

ऐवोकाडो या बटर फ्रूट

ऐवोकाडो या बटर फ्रूट में अच्‍छी मात्रा में वसा होती हैं जो शरीर के लिए फायदेमंद साबित होती हैं। इसलिए अपनी डाइट में ऐवोकाडो शामिल करें। ऐवोकाडो नहीं है तो आप रोजाना एक केला भी खा सकती हैं। 

 

मछली

अपने आहार में सीफूड, टूना फिश अन्य आदि शामिल करें। टूना फिश में बहुत सारा ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है जो शरीर में हार्मोन को बैलेंस रखने में मदद करता हैं। 

 

ग्रीन टी

ग्रीन टी पीने से वजन कंट्रोल में रहता है और शरीर को भरपूर मात्रा में हैल्दी एंटीऑक्‍सीडेंट प्राप्‍त होते है। अगर आप एंटीऑक्‍सीडेंट डाइट से नहीं ग्रहण कर पा रही तो सप्‍पलीमेंट लेना शुरु कर दें। इसके अलावा ग्रीन टी को अपनी रूटीन डाइट में जरूर शामिल रखें। 

 

लहसुन

लहसुन में कई औषधीय गुण होते हैं जिसे हार्मोन को भी बैंलेस रखने में मदद करते हैं। आप लहसुन का अपनी डाइट में तो शामिल रखिए साथ ही दूध में लहुसन डाल कर पीएं। इससे काफी फायदे मिलेगा। 
 

Related News

From The Web

ad