03 JULSUNDAY2022 4:04:00 AM
Nari

शिशु की देखभाल के दौरान महिलाएं तनाव से हैं ग्रस्त तो इन 7 तरीकों से पाएं राहत

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 01 Feb, 2022 02:45 PM
शिशु की देखभाल के दौरान महिलाएं तनाव से हैं ग्रस्त तो इन 7 तरीकों से पाएं राहत

बच्चे के जन्म के बाद माताओं पर कई और जिम्मेदारी आ जाती हैं। इसी कारण वे घर की जिम्मेदारी के साथ-साथ बच्चे की जिम्मेदारी को संतुलित करने की कोशिश में तनाव से ग्रस्त हो जाती हैं। वहीं कुछ महिलाओं को चिंता, हाइपरएक्टिविटी, डिप्रेशन जैसी समस्याओं का सामना भी करना पड़ता है। ऐसे में कुछ तरीके इस तनाव को दूर करने के लिए महिलाओं के काम आ सकते हैं। बता दें कि Dr Chandni Tugnait ( MD (A.M) Psychotherapist, Life Alchemist, Coach & Healer) द्वारा बताए गए कुछ तरीके महिलाओं के बेहद काम आ सकते हैं। जानते हैं इनके बारे में...

1  भरपूर नींद लेना

भरपूर नींद लेने से महिलाओं में तनाव दूर हो सकता है। साथ ही महिलाएं ऊर्जा भी महसूस कर सकती हैं। बता दें कि भरपूर नींद लेने से महिलाओं के मूड में सकारात्मक असर दिखाई देता है।

PunjabKesari

2. गाना सुनना है अच्छा विकल्प

बच्चों की देखभाल के दौरान महिलाएं कब तनाव का शिकार हो जाती हैं पता ही नहीं चलता। ऐसे में तनाव को दूर करने के लिए महिलाएं गाना सुन सकती हैं या अपनी पसंद का कुछ काम कर सकती हैं।

3 - आराम है जरूरी

बच्चे के जन्म के बाद महिलाओं की दिनचर्या से आराम जैसे कहीं दूर ही चला जाता है। हालांकि महिलाओं को थकान महसूस नहीं होती है, जिसके कारण वे हर वक्त काम करती रहती हैं। जबकि ऐसे समय में महिलाओं को भरपूर आराम की जरूरत होती है। इसलिए महिलाएं कुछ समय के लिए अपने बच्चे को अपने परिवार वालों की या किसी करीबी को देकर थोड़ी देर आराम करें।

4 - मेडिटेशन है जरूरी

बच्चे के जन्म के बाद अक्सर माताओं के पास समय की कमी हो जाती है। लेकिन यदि महिलाएं 24 घंटे में से केवल आधा घंटा मेडिटेशन के लिए निकालें तो तनाव को दूर किया जा सकता है। दिनचर्या में शारीरिक गतिविधियों की कमी के कारण भी तनाव हो सकता है। साथ ही महिलाओं का स्वभाव भी चिड़चिड़ा हो जाता है। जी हां, मेडिटेशन से ना केवल डिप्रेशन और चिंता को दूर किया जा सकता है बल्कि महिलाएं अपना मूड भी अच्छा और मन को शांत रख सकती हैं।

PunjabKesari

5 - विटामिन-डी है जरूरी

बच्चे की देखभाल के बीच में महिलाएं जरूरी पोषक तत्व को अपनी डाइट से निकाल देती है। ऐसे में महिलाएं जरूरी पोषक तत्व में विटामिन डी को भी अपनी डाइट में जोड़ना भूल जाती हैं। बता दें कि विटामिन डी की कमी से भी महिलाएं थकान या तनाव महसूस कर सकती हैं। ऐसे में डाइट में बदलाव करने के साथ-साथ महिलाओं को धूप से भी मिल सकता है।

6 - संतुलित आहार का सेवन

कभी-कभी शरीर में पोषक तत्व की कमी के कारण भी महिलाएं तनाव महसूस कर सकती हैं। डिलेवरी के बाद शरीर में कमजोरी आ जाती है। ऐसे में महिलाओं को अपनी डाइट में पनीर, हरी पत्तेदार सब्जियां, फल, दाल, दूध, दही, अंडा, मांस, मछली आदि को जोड़ना चाहिए। इससे अलग आयरन को भी डाइट में भी जोड़ें, जिससे अपने शरीर में खून की कमी को पूरा कर सकती हैं।

7 - गर्म पानी से स्नान

महिलाएं तनाव से राहत पाने के लिए गर्म पानी से भी स्नान कर सकती हैं। इससे अलग महिलाएं गर्म पानी में पैर डालकर बैठें। ऐसा करने से भी तनाव को दूर किया जा सकता है। महिलाएं पानी में सेंधा नमक भी मिला सकती हैं।

PunjabKesari
 

Related News