30 OCTFRIDAY2020 1:13:49 PM
Nari

गलत दिशा में बना पूजाघर भी देता है नेगेटिविटी

  • Edited By neetu,
  • Updated: 24 Sep, 2020 10:15 AM
गलत दिशा में बना पूजाघर भी देता है नेगेटिविटी

घर को बनावाने से पहले उसके कमरों के साथ पूजा के कमरे पर विशेष ध्यान दिया जाता है। इसे लोग अलग- अलग तरीकों से सजाना पसंद करते हैं। मगर वास्तुशास्त्र के अनुसार पूजा घर को बनवाने से पहले इसे सही दिशा में बनवाने के साथ कुछ विशेष नियमों का पालन करने की भी जरूरत होती है। ताकि पूजा करने का फल अच्छे से मिल सके। इसके विपरित गलत दिशा में बना पूजाघर व्यक्ति के जीवन में परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे में अगर आप वास्तुशास्त्र को मानते हैं तो चलिए आज हम आपको बताते हैं पूजा रूम से जुड़े कुछ खास नियम...

इस दिशा में बनवाए पूजा घर

घर का ईशान कोण अर्थात उत्तर-पूर्व दिशा सबसे उत्तम मानी जाती है। इसलिए पूजारूम भी घर की इसी दिशा में बनवाना चाहिए। इससे घर में सुख-समृद्घि व खुशहाली बनी रहती है। 

nari,PunjabKesari

सीढ़ियों के नीचे न हो मंदिर

अगर आप का पूजा घर सीढ़ियों के नीचे बना है तो तुरंत उसकी जगह बदल लें। नहीं तो घर का वातावरण नकारात्मक ‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌ऊर्जा से भर जाता है। घर के सदस्यों में मनमुटाव बना रहता है। मानसिक तौर पर परेशानियां होने के साथ धन से जुड़ी समस्याओं का भी सामना करना पड़ता है।

बेसमेंट में न बनवाए पूजाघर

घर की बेसमेंट में पूजाघर बनवाने से की गई पूजा का फल नहीं मिलता है।

हल्के रंग का करें पेंट

इसे हमेशा हल्के रंग से पेंट करना चाहिए। आप चाहें तो अपने पूजा घर के लिए सफेद, क्रीम, पीला या कोई हल्का सा रंग चुन सकते हैं।

सही दिशा में हो भगवान की मूर्तियां

पूजा घर के साथ उसमें रखी मूर्तियों की दिशा पर भी खास ध्यान देना चाहिए।‌ ऐसे में भगवान शिव, विष्णु, सूर्य भगवान, कार्तिकेय जी, गणेश जी और दुर्गा मां की मूर्तियां हमेशा पश्चिम दिशा की ओर मुंह करके स्थापित करें। साथ ही कुबेर व भैरव जी की मूर्तियां दक्षिण की ओर मुंह करके स्थापित करें। मगर हनुमान जी का मुंह दक्षिण या नैऋत्य की तरफ होना चाहिए।

nari,PunjabKesari

सफाई का रखें ध्यान

घर को साफ रखने के साथ पूजा घर की सफाई पर भी विशेष ध्यान दें। भगवान जी की मूर्तियों के वस्त्र भी रोजाना बदलने चाहिए।

इस दिशा पर बैठकर करें पूजा

पूजा करने के लिए हमेशा उत्तर-पूर्व दिशा उत्तम मानी जाती है। इससे ज्ञान में वृद्धि होने के साथ भगवान जी की विशेष कृपा मिलती है।

पूजा घर में रखें शंख

पूजा घर में शंख रखने से घर में पॉजिटिविटी बढ़ती है। वातावरण शुद्ध होने से घर के सदस्यों में एकता, खुशहाली बरकरार रहती है।

nari,PunjabKesari

खंडित मूर्तियों को रखने से बचें

कभी भी पूजा घर में खंडित मूर्तियां  नहीं होनी चाहिए। नहीं तो घर में नेगेटिविटी फैल जाती है। ऐसे में बनते- बनाने काम भी बिगड़ने लगते हैं।

मुरझाए फूलों को तुरंत हटाए

अगर आप भगवान जी को ताजे फूल या इससे तैयार माला चढ़ाते हैं तो इसके मुरझाने के बाद इन्हें तुरंत वहां से हटा दें।
 

Related News