22 JULMONDAY2024 11:58:29 PM
Nari

'मरने के बाद जन्नत मिले तो ठीक वरना...', Urfi Javed ने अब कह दिया कुछ ऐसा कि हर तरफ हो रही चर्चा

  • Edited By vasudha,
  • Updated: 15 Sep, 2022 06:04 PM
'मरने के बाद जन्नत मिले तो ठीक वरना...', Urfi Javed ने अब कह दिया कुछ ऐसा कि हर तरफ हो रही चर्चा

शायद ही कोई ऐसा दिन हो जब उर्फी जावेद लाइमलाइट में ना आई हो। वैसे तो ज्यादातर उर्फी अपने ऊँटपटांग फैशन को लेकर ही चर्चा में बनी रहती है लेकिन कई बार इनकी कही हुई बातें भी सुर्खियों की वजह बन जाती है। इस बार भी कुछ ऐसा ही है। उर्फी ने अपने नए टैलेंट के बारे में फैंस को बताया जिसे सुन सभी हैरान रह गए। आपने उर्फी का स्टाइल और एक्टिंग तो देखी है लेकिन क्या आप जानते है कि उर्फी एक बेहतरीन कवि भी है। जी हां, आपने सही सुना। यह सच है और खुद उर्फी ने बताया। 

PunjabKesari

उर्फी ने इंस्टा स्टोरी पर अपनी एक कविता शेयर की है, जिसे उन्होंने काफी पहले लिखा था. उर्फी ने बताया कि वो पहले कविताएं और गाने लिखती थीं। उर्फी ने अपनी खुद की लिखी हुई कविता की कुछ लाइन्स भी शेयर की हैं, जिसे पढ़कर आपका भी दिल खुश हो जाएगा। उर्फी ने लिखा-  बहुत मज़लूम हैं दुनिया में, बहुत गम है दुनिया में, एक हम भी और सही. मरने के बाद जन्नत मिले तो ठीक, वरना दोजख तो हमने यही देख ली है, एक दोजख और सही.

PunjabKesari

भले ही उर्फी ने अपनी कविता की चंद लाइनें लिखी हैं, लेकिन अगर आप इसका मतलब समझने की कोशिश करेंगे तो इसमें काफी गहराई है। हाल में ही उर्फी ने सिद्धार्थ कनन को एक इंटरव्यू दिया और कई बातों का खुलासा किया था। शो में उनसे पूछा गया कि उनपर लोग आरोप लगाते हैं कि वह पैपराजी को पैसे देकर बुलाती हैं। इसपर गुस्से में उर्फी जावेद ने कहा- मैं कायली जेन्नर हूं क्या? कहां से आया पैसा? मैं अंबानी की बेटी हूं क्या? कभी लोग कहते हैं कि मेरे पास पैसे नहीं हैं कपड़े पहनने के लिए। वहीं, दूसरी ओर लोग कह रहे हैं कि मैं पैसे देती हूं? आपको क्या लगता है कि कहां से मेरे पास पैसा आ रहा है? मुझे देखो. क्या आप लोगों को सच में लगता है कि मैं किसी को पैसे देती होंगी मुझे कवर करने के लिए?

PunjabKesari

पिछले आठ साल से मैं आर्थिक तंगी में थी। जब मैं बिग बॉस गई थी तो उधार लेकर गई थी। जो कपड़े मैंने पहने थे वे मैंने उधार लिए थे। जब मैं बिग बॉस से बाहर आई तो मेरे ऊपर काफी कर्जा था। शो में मैं केवल एक हफ्ते रही थी, उसमें भी मैंने कुछ ज्यादा पैसे नहीं कमाए। अगर मैं किसी तरह से पैसे कमा रही हूं तो क्यों न मैं खुद को उसी में माहिर करूं। उससे और पैसा कमाऊं। इसमें दिक्कत क्या है?  उर्फी कहती है- मैं कहीं भी जाती हूं तो ऐसी ही रहती हूं, जैसी हूं। मैं खुद को स्टार नहीं मानती। मैं जब खाना खाती हूं तो लोग मुझे देख रहे होते हैं, मुझे बहुत खराब महसूस होता है। मैं जिस जगह गई थी, वहां मुझे इंटरव्यू के लिए बुलाया गया था।

PunjabKesari

ऑर्गेनाइजर्स ने भी पैपराजी को वहां बुलाया तो जब मैं वहां पोज कर रही थी तो वहां मोजूद सिक्योरिटी गार्ड पैपराजी के साथ बहुत बदतमीजी से बात कर रहा था। मेरे से भी की, बॉडीगार्ड्स को बुलाया और हम सभी को वह धक्का देने लगे। यह सब कैमरे में नहीं था। दो मिनट बाद सिक्योरिटी गार्ड ने आकर माफी मांगी और कहा कि ऊपर से परमिशन नहीं आई थी, हमें कुछ कन्फ्यूजन हुआ था। मुझे इस बात से दिक्कत रही कि आपने बदतमीजी की और अब माफी मांग रहे हो, क्योंकि परमिशन आने में देरी हो गई थी। मुझे उस समय गुस्सा आया था। उर्फी ने सेलेब्स का राज खोलते हुए कहा कि हर एक्टर का एक पीआर होता है वह पैपराजी को इन्फॉर्म करता है। सैलून के बाहर जब आप सेलेब्स को मुंह छिपाते देखते हो तो यह सब उनका सिर्फ और सिर्फ ड्रामा होता है।
 

Related News