21 JANTHURSDAY2021 11:32:25 AM
Nari

16 जनवरी को लगने जा रही वैक्सीन लेकिन यह लोग सोच-समझकर लगवाएं टीका

  • Edited By Janvi Bithal,
  • Updated: 13 Jan, 2021 03:48 PM
16 जनवरी को लगने जा रही वैक्सीन लेकिन यह लोग सोच-समझकर लगवाएं टीका

कोरोना वायरस के खिलाफ देश ने कमर कस ली है। आने वाली 16 जनवरी देश के लिए एक बेहद खास दिन है क्योंकि इस दिन देश में वैक्सीनेशन का अभियान शुरू होने वाला है। इस पल का इंतजार कितने लोगों को था और आखिरकार वो दिन अब आ गया है। हालांकि वैक्सीन को लेकर भी अभी लोगों के मन में कईं तरह के सवाल हैं कि यह वैक्सीन किन्हें लगेगी और किन लोगों को अभी इससे बचाव करना चाहिए। तो चलिए आपको बताते हैं इसके बारे में। 

इन्हें मिलेगी पहले वैक्सीन 

वैक्सीन सबसे पहले डॉक्टरों, हेल्थकेयर वर्कर्स, सफाई कर्मचारियों और सभी फ्रंटलाइन वर्कर्स को दी जाएगी। फिर इसके बाद 50 साल से अधिक उम्र वालों को और फिर उन्हें जो किसी गंभीर बीमारियों से जूझ रहे हैं। 

ये लोग सोच समझकर लगवाएं टीका

PunjabKesari

ये तो वो लोग थे जिन्हें वैक्सीन सबसे पहले दी जाएगी लेकिन अब हम आपको उन कुछ लोगों के बारे में बताते हैं जिन्हें वैक्सीन सोच समझकर लेनी चाहिए। तो चलिए आपको बताते हैं इनके बारे में। 

1. प्रेग्नेंट महिलाएं

आपको बता दें कि वैक्सीन से प्रेग्नेंट महिलाओं को कई दफा अगाह किया जा चुका है और विशेषज्ञों की मानें तो जो महिलाएं मां बनने वाली हैं या फिर जो महिलाएं  ब्रेस्ट फीडिंग करवाती हैं वह एक बार डॉक्टर्स से पूछकर ही वैक्सीन लगवाएं। बता दें कि अभी तक वैक्सीन प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए सुरक्षित साबित नहीं हुई है। इसलिए गर्भवती महिलाओं के लिए यह चिंता की बात हो सकती है।

2. एलर्जी की समस्या 

अगर आपको वैक्सीन लेने से या आपको जन्म से ही एलर्जी की समस्या है तो आप बिना डॉक्टर से पूछे वैक्सीन न लगवाएं। पहले अपने डॉक्टर से बात करें और तब ही वैक्सीन लगवाएं। इसका एक कारण यह है कि वैक्सीन के कारण लोगों को गंभीर एलर्जी की समस्या सामने आ रही है ऐसे में अगर आपको पहले से ही एलर्जी की समस्या है तो आप इसे सोच समझकर लगवाएं। 

PunjabKesari

3. कोरोना संक्रमित लोगों को

हालांकि, यह वैक्सीन कोरोना का खातमा करने के लिए ही बनाई गई है लेकिन बहुत सारे ट्रायल में यह बात सामने आई है कि कोरोना से संक्रमित व्यक्ति को तब तक वैक्सीन नहीं देनी चाहिए जब तक कि वो आइसोलेशन और इस महामारी से पूरी तरह बाहर ना आ जाए। 

4. छोटे बच्चे को 

बच्चों में कोरोना के मामले इतने नहीं देखे गए हैं लेकिन इसका अर्थ यह नहीं है कि इससे बच्चों को खतरा नहीं है। हालांकि, जितनी भी वैक्सीन है उनमें से अभी तक किसी का यह डाटा सामने नहीं आया है कि वह बच्चों के लिए सुरक्षित है या नहीं इसलिए बच्चों को भी वैक्सीन सोच समझकर लगवाएं।

PunjabKesari

5. मेडिकल कंडीशन वाले लोग

जो लोग किसी मेडिकल कंडीशन का सामना कर रहे हैं उनके मन में एक ही सवाल है कि क्या उनकी बॉडी पर वैक्सीन काम करेंगी या नहीं। लेकिन शोध में यह बात सामने आई है कि यह वैक्सीन उन लोगों पर भी वैसे ही काम करेगी जितना यह स्वस्थ लोगों पर करती है। लेकिन उन लोगों का यह व्यक्तिगत फैसला होगा कि वह वैक्सीन लगवाना चाहते हैं या नहीं। 

Related News