10 AUGWEDNESDAY2022 2:22:06 AM
Nari

भाई की कलाई पर इस समय भूल कर भी न बांधे राखी, बन रहा है भद्राकाल

  • Edited By palak,
  • Updated: 28 Jul, 2022 03:45 PM
भाई की कलाई पर इस समय भूल कर भी न बांधे राखी, बन रहा है भद्राकाल

हर साल सावन महीने की शुक्ल पक्ष के पूर्णिमा के दिन राखी का त्योहार मनाया जाता है। भाई-बहन के इस त्योहार को प्रेम का प्रतीक माना जाता है। हिंदू धर्म के लोग इस त्योहार को बहुत ही धूमधाम से मनाते हैं। बहनें इस दिन अपने भाई को राखी बांधकर उसकी लंबी उम्र की कामना करते हैं। इस साल राखी का त्योहार 11 अगस्त को मनाया जाने वाला है। ज्योतिषाशास्त्र के अनुसार, इस दिन भद्राकाल रहेगा, इसलिए इस समय भूलकर भी राखी नहीं बांधनी चाहिए। तो चलिए जानते हैं कि भद्राकाल कब है और आप किस मुहूर्त पर अपने भाई को राखी बांध सकते हैं...

इस समय पड़ रहा है भद्राकाल 

रक्षाबंधन का यह त्योहार 11 अगस्त को मनाया जाने वाला है। भद्राकाल का मुहूर्त इस दिन शाम 05 बजकर 17 मिनट से लेकर रात को 08 बजकर 51 मिनट तक रहेगा। इस मुहूर्त को अशुभ समय बताया गया है। ऐसा माना जाता है कि लंकापति रावण की बहन ने इसी दौरान अपने भाई की कलाई में राखी बांधी थी। इसके बाद एक साल के अंदर ही रावण का विनाश हो गया था। इसलिए इस मुहूर्त के दौरान राखी नहीं बांधनी चाहिए। 

PunjabKesari

यह है राखी का शुभ समय 

इस साल राखी पर दो शुभ मुहूर्त बन रहे हैं। आप इन दो मुहूर्तों में कभी भी अपने भाई को राखी बांध सकते हैं। पहला शुभ मुहूर्त 11 बजकर 37 मिनट पर शुरु होगा जो दोपहर में 12 बजकर 29 मिनट तक रहेगा। आप इस दौरान कभी भी राखी बांध सकते हैं। इसके अलावा दूसरा शुभ मूहुर्त 02 बजकर 14 मिनट से शुरु होकर दोपहर 03 बजकर 07 मिनट तक रहेगा। इसमें भी आप कभी भी राखी बांध सकते हैं। 

PunjabKesari

इस दिन मनाएं राखी

इस साल राखी 11 अगस्त को आ रही हैं। लेकिन यदि फिर भी आप त्योहार को लेकर थोड़ा असमंजस में हैं तो एक बार ज्योतिष से सलाह जरुर ले लें। 

PunjabKesari

Related News