18 MAYSATURDAY2024 2:18:15 PM
Nari

शरीर में क्यों बढ़ता है Triglycerides का स्तर, जानिए कैसे करें कम

  • Edited By palak,
  • Updated: 04 Apr, 2024 04:08 PM
शरीर में क्यों बढ़ता है Triglycerides का स्तर, जानिए कैसे करें कम

दिल को स्वस्थ रखने के लिए खून में फैट का स्तर सही रखना जरुरी होता है। यदि खून में फैट का स्तर ज्यादा हो तो सिर्फ नसों में ब्लॉकेज हो सकती है। रक्त में फैट सिर्फ कोलेस्ट्रॉल के कारण ही नहीं बल्कि ट्राइग्लिसराइड्स के कारण भी बढ़ सकता है। दिल को स्वस्थ रखने के लिए इसका स्तर भी कंट्रोल में रखना जरुरी है। लेकिन ट्राइग्लिसराइड्स क्या है, शरीर में इसकी मात्रा क्यों बढ़ती है और आप इसे कैसे कंट्रोल रख सकते हैं। आज आपको इस बारे में बताएंगे। आइए जानते हैं।

ट्राइग्लिसराइड्स क्या है?

रक्त में कई तरह के फैट मौजूद होते हैं इन्हीं फैट्स में से एक है ट्राइग्लिसराइड्स। जब भी हम कुछ खाते हैं तो शरीर उससे मिलने वाली कैलोरी को ट्राइग्लिसराइडस में बदल देता है। इसका इस्तेमाल शरीर इंस्टेंट एनर्जी के लिए करता है लेकिन जब हम शारीरिक तौर पर एक्टिव नहीं होते और लगातार ही खाते रहते हैं तो यह एनर्जी के रुप में इस्तेमाल नहीं हो पाता और शरीर में इसकी मात्रा बढ़ने लगती है। यह मुख्यतौर पर आंत के आस-पास जमा होता है। इसका सामान्य स्तर 150 मिलीग्राम रक्त से कम होना चाहिए।

PunjabKesari

क्यों बढ़ता है ट्राइग्लिसराइड्स का स्तर?

जब आप दिन में पर्याप्त कैलोरी की मात्रा की जगह ज्यादा कैलोरी का सेवन कर लते हैं तो इससे ट्राइग्लिसराइड्स का स्तर बढ़ने लगता है। इसके अलावा शराब, ट्रांस फैट और चीनी का ज्यादा सेवन करने से भी इसकी मात्रा बढ़ सकती है और यह शरीर की सभी फैट कोशिकाओं में जमा होने लगता है। यदि बढ़े हुए ट्राइग्लिसराइड्स के बढ़े हुए स्तर को समय रहते नियंत्रित न किया जाए तो नसों में ब्लॉकेज की समस्या हो सकती है। इससे भविष्य में दिल संबंधी बीमारियों, स्ट्रोक और दिल के दौरे का कारण भी बन सकता है। इसके अलावा ट्राइग्लिसराइड के कारण अग्नाश्य में सूजन भी हो सकती है। 

कैसे करें इसे कम 

वजन कम 

यदि आपका वजन ज्यादा है तो कैलोरी का सेवन कम कर दें। ज्यादा कैलोरी भी ट्राइग्लिसराइडस में बदल जाती है और यह शरीर में जमा होने लगती है। 

PunjabKesari

ज्यादा मीठे फूड्स 

मीठे का ज्यादा सेवन करने से भी ट्राइग्लिसराइड्स का खतरा बढ़ता है। मीठे पदार्थ ट्राइग्लिसराइड्स की मात्रा शरीर में बढ़ा सकते हैं। कुकीज, पेस्ट्री, मीठे डेजर्ट और फलों का रस जैसे चीनी से युक्त पदार्थों का सेवन न करें। सफेद चावल, ब्रेड, सफेद आटे से बना पास्ता या कॉर्नफ्लेक्स जैसे फूड्स का सेवन करने से ट्राइग्लिसराइड्स का खतर बढ़ सकता है। इसकी जगह आप साबुत अनाज, मल्टीग्रेन चपाती, क्विनोआ, जौ और बाजरा का सेवन करें। 

एक्सरसाइज करें 

एक्स्ट्रा कैलोरी कम करने में आपको मदद मिलेगी। कोशिश करें कि हफ्ते में 5 दिन 30-40 मिनट रोज व्यायाम जरुर करें। 

शराब 

शराब का सेवन करने से ट्राइग्लिसराइड्स का स्तर बढ़ सकता है। ऐसे में इसका सेवन कम मात्रा में ही करें। 

ओमेगा-3 फूड्स 

ओमेगा-3 फैटी एसिड से भरपूर फूड्स को आप अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। पिसी हुई अलसी, अखरोट और शैवाल  का सेवन आप कर सकते हैं। 

PunjabKesari


 

Related News