24 JUNTHURSDAY2021 12:24:08 PM
Nari

Bloating Problem: एसिडिटी के चलते फूल जाता है पेट तो ये नुस्खे याद रखें

  • Edited By neetu,
  • Updated: 08 Jun, 2021 12:06 PM
Bloating Problem: एसिडिटी के चलते फूल जाता है पेट तो ये नुस्खे याद रखें

पेट फूलना यानि ब्लोटिंग की समस्या आज के समय में किसी भी उम्र के लोगों में आम हो रही है। यह मुख्य रूप से गलत खानपान के कारण पेट में गैस बनने से होती है। एक्सपर्ट्स के अनुसार, पेट फूलना या पेट के आसपास सूजन होने को गैस्ट्राइटिस भी कहा जा सकता है। इसकी वजह से भोजन को पचाने में समय लगता है और पेट में भारीपन, पेट फूलना, जलन, सूजन, घबराहट आदि के लक्षण दिखाई देने लगते हैं। समय रहते इस पर ध्यान ना देने से यह बीमारी बढ़ सकती है। मगर आप कोई एब्स एक्सरसाइज करने की जगह पर अपनी डेली डाइट व रूटीन में कुछ बदलाव लाकर इसे कंट्रोल कर सकती है। तो चलिए जानते हैं इसके बारे में...

पेट की मालिश करें

पेट की मसाज करने से आंतों को फायदा मिलता है। साथ ही पेट में दबाव पड़ने से ब्लड सर्कुलेशन बेहतर तरीके से होने में मदद मिलती है। इसे करने के लिए किसी भी तेल से पेट की गोलाई में मसाज करें। इस प्रक्रिया को करीब 30 से 40 बार करें। आपको कुछ ही दिनों में पेट फूलने की समस्या से आराम मिल जाएगा। 

गुनगुने पानी में नींबू मिलाकर पीएं

इसके लिए 1 गिलास गुनगुन पानी में 1 छोटा चम्मच नींबू का रस मिलाकर पीेएं। यह गैस्ट्रिक एसिड के स्राव को बैलेंस करने में मदद करेगा। ऐसे में पेट फूलने, एसिडिटी आदि परेशानी से राहत मिलेगी। 

PunjabKesari

 नाश्ते में दूध और कॉफी पीने से बचें

दूध गैस्ट्रिक एसिड के उत्पादन को उत्तेजित करके पेट में एसिड बढ़ाने का काम करता है। ऐसे में सुबह नाश्ते में खाली पेट दूध और कॉफी पीने से बचें। इसकी जगह पर दही का सेवन करें। दही में प्रोबायोटिक्स होने से पाचन क्रिया तेज होती है। वहीं यह गुड़़बैक्टीरिया बनाने में मदद करते हैं। मगर दूध और कॉफी पेट को नुकसान पहुंचाते हैं।

अदरक की चाय से मिलेगी राहत 

अदरक में एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-वायरल आदि गुण होते हैं। यह पेट में जलन, गैस, एसिडिटी आदि की समस्या को कम करने में मदद करता है। इससे पाचन शक्ति व आंतों को सही तरीके से काम करने की शक्ति मिलती है। यह खून को पतला करने के साथ इसकी प्रक्रिया में सुधार करता है।

अधिक फैट वाला भोजन खाने से बचें 

जिन लोगों को पेट फूलने, जलन, अपच आदि पेट संबंधी समस्याएं रहती है उन्हें वसायुक्त भोजन, जंक फूड व मिठाइयों का अधिक सेवन करने से बचना चाहिए। असल में, इन चीजों को पचाने में अधिक समय लगता है। इसके कारण पेट में एसिडिटी, भारीपन, बैचेनी आदि की परेशानी होने लगती है। 

PunjabKesari

जल्दी में भोजन ना करें

भोजन को तेजी से खाने में हम हवा भी अंदर की ओर खींच लेते हैं। इसके कारण शरीर में गैस, सूजन की समस्या होती है। ऐसे में भोजन को हमेशा धीरे-धीरे चबाकर कर खाएं। 

भारी मात्रा में फाइबर से भरपूर चीजें ना खाएं

अधिक मात्रा में फाइबर से भरपूर चीजों का सेवन करने से भी पेट में गैस बनने लगती है। साथ ही आंतों को काम में बांधा होने लगती है। इसके लिए बेहतर है कि भोजन में अधिक फाइबर लेने से बचें।

आराम करें, अच्छी नींद लें और ध्यान करें

ज्यादा सोचना, चिंता करनी व तनाव की स्थिति में भी आंतों की प्रक्रिया में बांधा आने लगती है। इसके लिए जरूरी है कि आप समय पर सोएं और आराम करें। इससे पूरे शरीर को आराम मिलेगा। ऐसे में शरीर को बेहतर तरीके से काम करने की शक्ति मिलेगी। इसके साथ रोजाना 15-30 मिनट तक ध्यान करें। इससे मन, पेट और दिल होता है। साथ ही पूरे शरीर में बेहतर तरीके से ब्लड सर्कुलेशन होने में मदद मिलती है। आप चाहे तो कोई हल्की-फुल्की एक्सरसाइज भी कर सकती है। 

Related News