24 MAYTUESDAY2022 7:46:03 AM
Nari

बोन कैंसर के 7 संकेत, समय पर दिया ध्यान तो बच सकती है जान

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 17 Mar, 2021 04:28 PM
बोन कैंसर के 7 संकेत, समय पर दिया ध्यान तो बच सकती है जान

कैंसर एक ऐसी जानलेवा बीमारी है जो व्यक्ति को मौत के दरवाजे तक ले जाती है। कैंसर कई तरह के होते हैं, जिसमें से एक है बोन कैंसर (Bone Cancer)।बच्चों और युवाओं में बोन कैंसर  का खतरा सबसे अधिक होता है, जिसका एक कारण बिगड़ा हुआ लाइफस्टाइल भी है। हड्डियों में होने वाले इस कैंसर की पहचान अगर समय रहते ना की जाए तो जान जाने का खतरा भी रहता है।

सबसे पहले जानिए क्या होता है बोन कैंसर?

बोन कैंसर की शुरुआत तब होती है जब किसी हड्डी में ट्यूमर बनने लगता है। धीरे-धीरे कैंसर की कोशिकाएं हड्डियों में फैलने लगती है और धीरे-धीरे शरीर के बाकी अंगों को भी अपनी चपेट में ले लेती है। बोन कैंसर किसी भी हड्डी के अंदर हो सकता है लेकिन यह कैंसर हाथों और पैरों ही हडड्डियों में ज्यादा होता है।

PunjabKesari

किन लोगों को अधिक खतरा ?

1. ऑस्टियोसार्कोमा (Osteosarcoma) बोन कैंसर का सबसे आम प्रकार है, जो अक्सर हाथ, पैर या पेल्विस में होता है। ज्यादातर 10 से 30 की उम्र वालों में यह देखने को मिलता है।
2. इविंग सारकोमा (Ewing sarcoma) की सबसे अधिक संभवाना बच्चों और युवाओं में होती है।, जो हाथ-पैर, सीने, पेल्विस और कमर में शुरू होता है।
3. कोंड्रोसारकोमा (chondrosarcoma) होन कैंसर हाथ, पैर और पेल्विस से शुरू होता है, जो ज्यादातर 40 से ज्यादा उम्र के लोगों को होता है।

कब होता है बोन कैंसर

बोन कैंसर का सबसे बड़ा कारण पेजेट रोग (Paget's Disease) है, जिससे कैंसर सेल्स को बढ़ावा मिलता है। 

इसके अलावा आनुवांशिक, रेडिएशन रेडिएशन ट्रीटमेंट, बोन मेरो कैंसर, विकरण के अधिक संपर्क में रहना और कैंसर की दवाओं से भी इसका संभावना रहती है। 

अब जानिए बोन कैंसर के संकेत...

असहनीय दर्द

हड्डियों व जोड़ के आसपास सूजन व दर्द बोन कैंसर का सबसे पहला संकेत है, जो शुरूआत में धीमा और वक्त के साथ बढ़ता जाता है। हालांकि कैंसर के अलावा गठिया के कारण भी यह दर्द हो सकता है इसलिए डॉक्टर से चेकअप जरूर करवाएं।

PunjabKesari

बार-बार होने लगे फ्रैक्चर

हड्डी पर सूजन या लाल रंग उभर, टूटी हुई हड्डी, हड्डी में गांठ, कमजोरी के कारण हड्डी का चटकना भी बोन कैंसर का संकेत देते हैं। दरअसल, ट्यूमर के कारण हड्डी कमजोर हो जाती है, जिसके कारण वो आसानी से टूट जाती हैं। हालांकि हड्डी कमजोर होना कैल्शियम की कमी का भी संकेत हो सकता है।

रात को पसीना आना

गर्मी या सर्दी के मौसम में बेवजह पसीना आए तो उसे नजरअंदाज ना करें क्योंकि यह भी बोन कैंसर का संकेत होता है। ऐसे में आपको एक्सपर्ट से सलाह लेनी चाहिए।

थकावट रहना

हर वक्त थके-थके रहते हैं या रोजमर्रा के काम करने में परेशानी होती है तो एक बार चेकअप करवा लें क्योंकि यह भी हड्डी के कैंसर का संकेत हो सकता है।

PunjabKesari

वजन कम होना

बिना किसी कारण वजन कम हो रहा है तो यह बोन कैंसर का इशारा हो सकता है। हालांकि वजन कम होने के ओर भी कारण हो सकते हैं इसलिए एक बार चेकअप करवा लें।

बुखार आना

कभी-कभी कंधे की हड्डी में होने वाले ट्यूमर से बुखार हो सकता है इसलिए अगर बिना वजह बुखार हो तो तुरंत डॉक्टर से चेकअप करवाना सही होगा।

एनीमिया

एनीमिया, भूख ना लगना, शारीरिक कमजोरी, शरीर में सूजन, चक्कर आना, कमजोर इम्यूनिटी भी बोन कैंसर के लक्षणों में से एक हैं।

PunjabKesari

Related News