17 JANMONDAY2022 6:17:00 AM
Nari

Parenting Tips: बिना डांट के भी बच्चों काे सिखाया जा सकता है Discipline, जानें क्या है तरीका

  • Edited By vasudha,
  • Updated: 14 Jan, 2022 12:31 PM
Parenting Tips: बिना डांट के भी बच्चों काे सिखाया जा सकता है Discipline, जानें क्या है तरीका

हर माता-पिता चाहते हैं कि उनका बच्चा होशियार होने के साथ- साथ  डिसिप्लिन यानी कि अनुशासन में रहना भी जानता हो। लेकिन बच्चे को अच्छे गुण इतना आसान नहीं है, जितना देखने में लगता है। क्योंकि चिल्लाने और डराने से वह सीखते कम हैं, उल्टा जवाब ज़्यादा देने लगते हैं, इस दौरान बेहद सब्र से काम लेना होता है। आज हम आपको बताते हैं कि बिना डांटे आप किस तरह अपने बच्चों को अनुशासन सिखा सकते हैं। 

 

डांटने के बजाय समझाएं

यह याद रखना कि  बच्‍चे पर हर समय दबाव डालना भी सही नहीं है। यदि आपका बच्चा उम्‍मीदों पर खरा नही उतर पा रहा है, तो आप उसे डांटने के बजाय उसे समझाएं। 


बच्चों के  रोल मॉडल बनें

बच्चों को सिखाने का सबसे सही तरीका है कि आप खुद उनके लिए रोल मॉडल बनें क्योंकि बच्चे सबसे पहले अपने माता-पिता को देखकर सीखते हैं। इसलिए अपना व्यवहार वैसा न रखें जो, आप अपने बच्चों में नहीं देखना चाहते।

PunjabKesari
बुरी आदतों को ना करें Ignore

कई बार पैरेंट्स बच्चों की बुरी आदतों को हंसी में टाल देते हैं, जो बड़े होकर उनके व्‍यवहार में शामिल हो जाती है। ऐसे में जरुरी है कि शुरुआत में ही  उन्हें सोने, उठने, पढ़ने और खेलने का सही समय बताएं।

 

खेल-खेल में समझाएं

खेल-खेल में बताई गई चीजें बच्चों को जल्दी समझ आती है।  जैसे उन्हें अपनी गंदी प्लेट खुद साफ करने की आदत सिखाएं। उन्हें घरों के कामों में हाथ बंटाने को कहें। बेटा हो या बेटी दोनों को काम करना सिखाएं।

PunjabKesari
बच्चों से जानें पूरी दिनचर्या

रात को बच्‍चों को सुलाने से पहले उनसे पूरी दिनचर्या जानने की कोशिश जरूर करें।  उनसे पूछें कि  दिन कैसा गया या अगले दिन उनकी क्‍या प्‍लानिंग है. ऐसा करने से बच्‍चे आपसे अपने दिल की सारी बातें शेयर करने लगेंगे।  


बच्चों को मोटिवेट करें

बच्चों को अच्छा करने के लिए मोटिवेट करते रहना चाहिए। इससे उनके हौंसला बढ़ता है और उनको कुछ नया करने का साहस भी मिलता है। कुछ नया करने पर उन्हें समझने की कोशिश करें और उनकी सरहाना करें। 

PunjabKesari
चिल्लाना या थप्पड़ मारना गलत

बच्चे को डिसिप्लिन में रखने के लिए उन पर चिल्लाना या थप्पड़ मारना बहुत गलत है। क्योंकि इससे उनके मन में दर्द, भय और अपमान पैदा हो जाएगा ऐसे में वह आपसे बातें छुपाने लगेंगे। 
 

Related News