22 JANFRIDAY2021 11:46:23 PM
Nari

Coronavirus: क्या नवरात्रि उपवास से कम हो जाती है इम्यूनिटी? जानिए विशेषज्ञ की राय

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 19 Oct, 2020 11:12 AM
Coronavirus: क्या नवरात्रि उपवास से कम हो जाती है इम्यूनिटी? जानिए विशेषज्ञ की राय

कोरोना काल के चलते लोगों की जिंदगी पूरी तरह बदल चुकी है। सेफ्टी के लिए लोगों को मास्क पहनना, सोशल डिस्टेसिंग, बार-बार हाथ धोना और इम्यूनिटी बढ़ाने की सलाह दी जा रही है। मगर, नवरात्रि के चलते ज्यादा लोग सोच रहे हैं कि उपवास से इम्यूनिटी कमजोर तो नहीं हो जाएगी। दरअसल, नवरात्रि के दिनों में लोग मां दुर्गा को प्रसन्न करने के लिए 9 दिनों का उपवास करते हैं। मगर, कोरोना काल के चलते लोगों को डर है कि इसका असर इम्यूनिटी पर तो नहीं पड़ेगा। चलिए आपको बताते हैं कि क्या एक्सपर्ट की इसपर राय...

क्या व्रत रखने से इम्यूनिटी कम होती है?

एक्सपर्ट की मानें तो इम्यूनिटी कुछ दिनों में कम या ज्यादा नहीं होती। यह एक लॉन्ग टर्म इंवेस्टमेंट है। जो लोग पहले से ही अच्छी डाइट, एक्सरसाइज, योग, धूम्रपान ना करना जैसा लाइफस्टाइल फॉलो कर रहे हैं उनकी इम्यूनिटी को उपवास से कोई फर्क नहीं पड़ेगा। इसके अलावा जिन लोगों को कोई बीमारी नहीं है वह भी बेफ्रिक होकर व्रत रख सकते हैं।

PunjabKesari

डायबिटीज मरीज रखें ध्यान

डायबिटीज या किसी बीमारी से ग्रस्त है तो समय पर दवा लें। वहीं, डायबिटीज मरीज लंबे समय तक भूखे ना रहें। इसके अलावा ध्यान रखें कि इस दौरान सिर्फ सात्विक भोजन ही करें। सबसे जरूरी बात कि घर पर ही देवी मां की उपासना करें और भीड़-भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचें।

व्रत रखने से सेहत को मिलते हैं ये फायदे...

पेट की आयुर्वेद औषधि है व्रत

आयुर्वेद की मानें तो व्रत रखने से पेट की बीमारियां दूर रहती है। हफ्ते में एक बार व्रत रखने से कब्ज, एसिडिटी की बीमारियां आस-पास भी नहीं फटकती।

वजन होगा कम

व्रत रखने से फैट सेल्स में लैप्ट‍िन नाम का हॉर्मोन प्रोड्यूस होता है, जिससे कैलोरी बर्निंग प्रोसेस बढ़ता है और वजन कम करने में मदद मिलती है। नवरात्रि में अन्य दिनों की अपेक्षा कम कैलोरी लेते हैं, जिससे वजन कम होता है।

PunjabKesari

स्किन होती है ग्‍लोइंग

9 दिनों का उपवास सिर्फ सेहत ही नहीं बल्कि त्वचा पर भी असर डालता है। फलों, सूखे मेवों, लिक्विड डाइट से स्किन हाइड्रेट रहती है और इससे बालों पर भी फर्क पड़ता है।

स्‍ट्रेस होता है कम

व्रत के दौरान आप पॉजीटिव सोचते हैं, जिससे दिमाग शांत रहता है और स्ट्रेस भी कम होता है। इससे आप डिप्रेशन से भी बचे रहते हैं।

बॉडी होती है डिटॉक्‍स

इससे शरीर से विषैले तत्व भी बाहर निकल जाते हैं, जिससे बॉडी डिटॉक्स होती है। यही नहीं, व्रत के दौरान सिस्टम से कोलेस्ट्रॉल भी निकल जाता है, जिससे शरीर के अंग बेहतर तरीके से कार्य करते हैं।

PunjabKesari

Related News