19 JANTUESDAY2021 12:55:57 PM
Nari

ग्रीन-टी या लेमन-टी? जानिए दिन की शुरुआत करने में कौन-सी रहेगी बेहतर

  • Edited By neetu,
  • Updated: 25 Nov, 2020 03:52 PM
ग्रीन-टी या लेमन-टी? जानिए दिन की शुरुआत करने में कौन-सी रहेगी बेहतर

लोग अपने दिन की शुरूआत चाय पीकर करना पसंद करते हैं। इससे उन्हें एनर्जी मिलने के साथ दिनभर तरोताजा महसूस होता है। मगर दूध व चीनी वाली चाय पीना शरीर को नुकसान पहुंचाता है। इससे वजन बढ़ने के साथ शरीर को अन्य कई परेशानियां हो सकती है। ऐसे में बहुत से लोग अब दूध वाली चाय की जगह ग्रीन व लेमन-टी पीने लगे हैं। मगर बात यह है कि इन दोनों में से सेहत के लिए कौन-सी चाय फायदेमंद रहेगी। असल में, सुबह खाली पेट कुछ चीजों का सेवन करने से एसिडिटी, जलन व पेट से जुड़ी अन्य समस्याएं हो सकती है। तो चलिए हम आपको बताते हैं कि सुबह से समय कौन-सी चाय पीना फायदेमंद रहेगा...

नींबू वाली चाय (Lemon Tea)

नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफार्मेशन के मुताबिक, नींब में मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-फंगल गुण शरीर की अंदर से सफाई करते हैं। इससे वजन, शुगर लेवल व कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल में रहने के साथ दिल से जुड़ी समस्याएं दूर होती है। साथ ही इम्यूनिटी स्ट्रांग होकर खांसी, जुकाम, बुखार व अन्य मौसमी बीमारियों से राहत मिलती है। 

PunjabKesari


ग्रीन-टी (Green tea)

एक्पर्ट्स के अनुसार, ग्रीन-टी में एंटी-फंगल, एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-ऑक्सीडेंट गुण होते हैं। ऐसे में इसका सेवन करने से दिल और दिमाग स्वस्थ रहने के साथ बेहतर तरीके से काम करते हैं। शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ने से मौसमी बीमारियों व इंफेक्शन से बचाव रहता है। यह खून को पतला करने के साथ कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करती है। ऐसे में ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहने से हार्ट अटैक आने व दिल से जुड़ी अन्य बीमारियों से बचाव रहता है। इसके अलावा औषधीय गुणों से भरपूर ग्रीन-टी को पीने से शरीर में कैंसर की कोशिकाएं पनपने से बचाव रहता है। 

PunjabKesari

तो चलिए अब जानते हैं लेमन- टी और ग्रीन टी में पाएं जाने वाला अंतर...

- ग्रीन-टी को तैयार करने के लिए खास तरह की हर्बल पत्तियों का इस्तेमाल किया जाता है। मगर लेमन-टी में नींबू को यूज करके आम चाय की तरह बनाया जाता है। 
- ग्रीन-टी कम प्रोसेस्ड होने से यह शरीर को बीमारियों से बचाए रखती है। साथ ही शरीर में जमा गंदगी बाहर निकालने में मदद करती है। मगर लेमन-टी को बनाने के लिए अदरक, दालचीनी और लौंग आदि चीजों से तैयार होती है। इससे शरीर मौसमी बीमारियों से बचाव रहता है।  

तो चलिए अब जानते हैं कि इनमें से कौन-सी चाय है ज्यादा फायदेमंद...

भले ही नींबू में एंटी-ऑ्कसीडेंट, एंटी-वायरल, एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं। इससे मौसमी बीमारियों से बचाव रहता है। मगर कई लोगों को खाली पेट नींबू का सेवन करने से एसिडिटी, पेट दर्द व पेट से संबंधित अन्य समस्याएं हो सकती है। बात अगर ग्रीन-टी की करें तो 
इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट एंटीथ्रैटिक, जीवाणुरोधी, एंटी-जेनोजेनिक, एंटी-वायरल गुण होने से वजन कम होने के साथ डायबिटीज व ब्लड प्रेशर कंट्रोल रहने में मदद मिलती है। साथ ही एक्सपर्ट्स के अनुसार, लेमन-टी के मुकाबले ग्रीन-टी लंबे समय तक शरीर असर दिखाती है। ऐसे में रोजाना 1 कप लेमन-टी पीने की तुलना में ग्रीन-टी पीना फायदेमंद रहेगा।

इसके अलावा, जिन लोगों को सुबह उठते ही तुरंत छींकने की परेशानी हो या किसी तरह की एलर्जी होने से नींबू की चाय पीना फायदेमंद रहेगा। मगर वजन कम करने व इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए ग्रीन-टी का सेवन करना बेस्ट रहेगा। 

Related News