27 MAYWEDNESDAY2020 4:04:08 PM
Nari

Corona Stress: एक्ट्रेस नहीं मां समीरा ने किया अपना दर्द बयां

  • Edited By shipra rana,
  • Updated: 28 Mar, 2020 01:51 PM
Corona Stress: एक्ट्रेस नहीं मां समीरा ने किया अपना दर्द बयां

कोरोना वायरस का कहर इतना बढ़ गया था कि प्रधानमंत्री को 21 दिनों का लॉकडाउन घोषित करना पड़ा। ऐसे में हर कोई इस महामारी को गंभीरता से नहीं  ले रहा था। बेखौफ होकर यूं ही बाहर घूम रहा था। किसी को कोई परवाह नहीं थी कि बाहर क्या फैल रहा है। ऐसे में बॉलीवुड एक्ट्रेस समीरा रेड्डी ने भी एक बात साझा की है। या यूं कहा जाए कि मां समीरा ने अपना दर्द बयां किया है। उन्होंने एक वीडियो इंस्टाग्राम पर शेयर किया है। आइए आपको दिखाते है इस वीडियो की झलक.... 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

It hurts me that Hans is exposed to the paranoia and fear. But this is the new normal . And imagine if we feel anxiety they feel it even more . Signs of deep anxiety in children -finding it hard to concentrate. -not sleeping, or waking in the night with bad dreams. -not eating properly. -quickly getting angry or irritable, and being out of control during outbursts. -constantly worrying or having negative thoughts. -feeling tense and fidgety, or using the toilet often. -always crying. -being clingy. -complaining of tummy aches and feeling unwell s 🙏🏼 please be aware and communicate with your child . It’s important . Keeping them busy is a good thing but talking to them and being honest about the situation is recommended . Make them feel safe. Lots of hugs and lots of patience . ❤️#staysafe #stayhome #mentalhealth #children #lockdown

A post shared by Sameera Reddy (@reddysameera) on Mar 26, 2020 at 4:05am PDT

समीरा ने कहा-'मैं दो हफ्ते पहले हंस से इस बारे में बात कर रही थी क्योंकि मुझे पता था ये सवाल उसकी तरफ से आने वाला है। इसके बाद उसने जो बात कही, मुझे एहसास हुआ शायद हम उसके आस पास ज्यादा खबरें देख रहे हैं। सोचों अगर हमें इस तरह की बेचैनी हो रही है, तो बच्चों को कितनी परेशान हो रही होगी।' बात यह है कि हर मां को यह शहर का सन्नाटा देखकर एक ही बैचेनी हो रही है कि आखिर यह कहीं आने वाले तूफान का सन्नाटा तो नहीं। ऐसे में हर कोई पैनिक हो रहा है। मगर आपको पॉजिटिव सोचना है। इस समय आप घर में कैद नहीं है बल्कि इस वक्त आप महामारी से बचे हुए है। साइंस कहता है कि हमारे पास दो रास्ते होते है फाइट या फ्लाइट , लड़ो या भागो। हमने लॉकडाउन का रास्ता यानी भागो वाला ऑप्शन चुना है। हम छुपे हुए है घरों में महामारी को भगाने के लिए। तो अभी चिंता नहीं महामारी को चिता बनाने का समय है। घर में रहिए बिना किसी चिंता के। 

Related News