02 DECWEDNESDAY2020 6:05:31 AM
Nari

तीन में 1 महिला शिकार, पेट के निचले हिस्से में क्यों होता है असहनीय दर्द? जानिए कारण और बचाव

  • Edited By Vandana,
  • Updated: 20 Nov, 2020 10:40 AM
तीन में 1 महिला शिकार, पेट के निचले हिस्से में क्यों होता है असहनीय दर्द? जानिए कारण और बचाव

आपने कभी ना कभी महिलाओं को पेट के निचले हिस्से में दर्द की शिकायत करते सुना होगा जिसे हम आप भाषा में पेड़ू का दर्द भी कहते हैं। ऐसा दर्द जो कई बार इतना बढ़ जाता है कि उठने-बैठने और चलने में भी तकलीफ देता है इसे पेल्विक पेन (Pelvic Pain) भी कहा जाता है, जिसे इग्नोर करना महिला स्वास्थ के लिए मुसीबत खड़ी कर सकता है। चलिए इस बारे में आपको डिटेल में बताते हैं

पहले जानिए ये दर्द होता क्या है...

इस दर्द की एक वजह पेल्विक कंजेशन सिंड्रोम (Pelvic congestion syndrome) यानि PCS भी है। अगर यह दर्द आपको 6 महीने से ज्यादा समय तक लगातार रहता है तो इसी सिंड्रोम का खतरा ज्यादा होता है। हैरानी की बात तो यह है भारत में हर 3 में से 1 महिला इस समस्या की शिकार होती है लेकिन वह इससे अनजान होती है।

PunjabKesari

अब इसके लक्षण जानिए

पेट के निचले हिस्‍से में भारीपन या दबाव महसूस होना
निचले हिस्से में मरोड़ या दर्द होना
ज्यादा समय तक खड़े होने या बैठने में दर्द महसूस होना
इंटरकोर्स के समय दर्द होना
यूरीन पास करते हुए दर्द होना
मासिक धर्म के दौरान ऐंठन या दर्द
कब्ज या फिर दस्त लगने
पेट फूलना या पेट में गैस होना  
बुखार

PunjabKesari

पेल्विन पेन होने के कारण क्या है...

वैसे तो महिला को पीरियड्स के दिनों में यह दर्द हो तो घबराने वाली बात नहीं है लेकिन अगर लंबे समय से दर्द जा ही नहीं रहा तो डॉक्टर को दिखाना बहुत जरूरी भी है।

1. डाक्टर्स के मुताबिक, पेडू का दर्द एक स्थान से दूसरे स्थान पर जा सकता है जिसकी शुरुआत पेट व जांघों के बीच वाले हिस्से से होती है। कुछ मामलों में तो कूल्हों के आसपास भी दर्द होता है ऐसा अंडाशय में गांठ होने के कारण भी हो सकता है।

2. उम्र के साथ मांसपेशियों में कमजोरी आने लगती हैं उस वजह से भी यह दर्द होता है। इस दर्द के होने की वजह महिला का बढ़ा वजन भी हो सकता है क्योंकि इससे अंडाशय की शिरायों पर दबाव बढ़ता है।

3. जिन पुरुषों ने नसबंदी करवाई हो उन्हें भी यह दर्द हो सकता है। प्रोस्टेट ग्रंथि में सूजन के काऱण भी पेड़ू में दर्द हो सकता है क्योंकि प्रोस्टेट बढ़ने से मूत्र मार्ग पर दबाव बढ़ता है जिससे पेड़ू में दर्द होता है।

4. इसके अलावा, अपेंडिक्स पेन, यूरिन इंफैक्शन, किडनी इंफैक्शन, किडनी स्टोन, प्रेग्नेंसी पीरियड में हार्मोंन बदलाव या यौन संक्रमण से जुड़ी समस्या के चलते भी पेल्विक पेन होता है।

PunjabKesari

. बार बार अगर पेड़ू में दर्द हो रहा है तो उसे हल्के में ना लें और डाक्टरी जांच करवाएं क्योंकि सही कारण पता होने पर ही इलाज तय होता है। इसके लिए ब्लड व  यूरिन टेस्ट करवाए जाते हैं। इसके अलावा जरूरत पड़ने पर  अल्ट्रासाउंड, सीटी स्कैन, एमआरआई, एंडोस्कॉपी, लेप्रोस्कॉपी और पेडू का एक्स-रे किया जाता है। आमतौर पर पेडू के दर्द के लक्षण दूर करने के लिए दवाएं दी जाती हैं। दवा से इलाज संभव है। लेकिन अगर समस्या बढ़ी हो तो सर्जरी का सहारा भी लिया जा सकता है।

. याद रखें कि पेडू के दर्द से बचना है तो सुरक्षित यौन संबंध बनाएं।

. जिन लोगों को किडनी स्टोन की समस्या हैं वह भरपूर पानी जरूर पीएं।

PunjabKesari

लंबे समय तक एक ही जगह पर ना बैठे रहें। हैल्दी खाएं, एक्सरसाइज और योग जरूर करें। आपका लाइफस्टाइल हैल्दी होगा तो बीमारियों से अपने आप छुटकारा मिलेगा।

Related News