04 JUNTHURSDAY2020 5:27:56 AM
Nari

मां को याद कर इमोशनल हुए अर्जुन, बोले- 6 साल तक नहीं खोला उनका कमरा

  • Edited By Janvi Bithal,
  • Updated: 23 May, 2020 09:28 AM
मां को याद कर इमोशनल हुए अर्जुन, बोले- 6 साल तक नहीं खोला उनका कमरा

बॉलीवुड के जाने माने स्टार अर्जुन कपूर सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं हालांकि उनके और मलाइका के रिलेशन के चर्चे तो बी टाउन में बहुत फेमस हैं लेकिन हाल ही में अर्जुन ने अपनी इंटरव्यू में बताया कि उनकी मां के जाने के बाद कैसे उन्होंने खुद को संभाला और कैसे उनकी बहन अंशुला कपूर और उन्होंने इस दर्द को झेला। 

मां को याद कर भावुक हुए अर्जुन 

अर्जुन कपूर अपनी मॉम से बेहद प्यार करते हैं ये सब जानते हैं, उनकी मां मौना शौरी कपूर को दुनिया से अलविदा कहे तकरीबन 8 साल हो गए हैं पर मां के जाने का दर्द इनतने सालों से भी कहा भरता है। आज भी बोनी के लाडले अर्जुन को अपनी मां की याद बहुत सताती है और सताए भी क्यों न आखिर बेटा तो मां के सबसे करीब होता है और बेटी तो मां की आत्मा के साथ जुड़ी होती है। 

PunjabKesari

6 साल तक नहीं खोला मां का कमरा - अर्जुन 

हाल ही में अर्जुन ने बताया कि मां के चले जाने के बाद वो पल, वो समय उनके लिए और उनकी बहन के लिए कितना दर्द भरा था इतना ही नहीं अर्जुन ने तो अपनी मां की मौत के 6 साल तक उनका कमरा नहीं खोला। उन्होेंने कहा कि वो और उनकी बहन अंशुला ये हिम्मत ही नहीं जुटा पाते थे कि वे उनका रूम खोल सकें। अर्जुन ने आगे कहा कि यह नॉर्मल बात नहीं है कि घर में जगह नहीं है और आप एक कमरा हमेशा बंद रख रहे हैं लेकिन मेरे और अंशुला के लिए ये ऐसा ही है। यह उनका घर है। 

PunjabKesari

अर्जुन ने आगे कहा मैं हर दिन बाहर जाता हूं, खुश रहता हूं काम करता हूं, मजा आ रहा है, शूटिंग कर रहे हो, अपनी ड्रीम जॉब कर रहे हो लेकिन घर आकर मां को ये सब नहीं बता सकता. इसलिए सब अधूरा-अधूरा सा लगता है। 

जिनके पास मां है मुझे उनसे जलन है

अर्जुन ने बताया कि मुझे उन लोगों से जलन होती है, जो घर जाते हैं और उन्हें मां मिलती है। इससे काफी फर्क पड़ता है, मुझे अंशुला के आस-पास होने से स्टेबिलिटी मिलती है।लेकिन पहले अंशुला दिल्ली में काम करती थी और मैं अकेला था।

PunjabKesari

मुझे ये मानना पड़ा कि मां मेरे साथ नहीं है

इस दुख को भूलाने पर अर्जुन कहते हैं कि मैंने इससे भागकर इसे झेलने की कोशिश की थी लेकिन इसके बाद मैंने इसको स्वीकार कर लिया कि यही मेरा जीवन है, मां मेरे साथ नहीं है।

Related News