04 JULMONDAY2022 9:35:06 AM
Nari

Platinum Jubilee पर दिखा 260 साल पुराना सोने का रथ, इस शाही सवारी का महारानी से है खास नाता

  • Edited By vasudha,
  • Updated: 04 Jun, 2022 04:36 PM
Platinum Jubilee पर दिखा 260 साल पुराना सोने का रथ, इस शाही सवारी का महारानी से है खास नाता

ब्रिटिश शाही परिवार इन दिनों महारानी एलिजाबेथ द्वितीय की प्लेटिनम जुबली मना रहा है। राजगद्दी पर महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के 70 साल पूरे होने के अवसर पर लंदन में कई कार्यक्रम किए गए। इस दौरान लंदन की सड़क पर सोने का रथ दिखाई दिया ।  यह रथ 260 साल पुराना है, जिसे बीस साल बाद लंदन की सड़काें पर उतारा है। 

PunjabKesari

इसी सोने के रथ ने 70 साल पहले महारानी एलिजाबेथ द्वितीय को उनके राज्याभिषेक तक पहुंचाया था। इसकी आखिरी झलक 2002 में दिखाई दी थी। चार टन वजनी रथ 7 मीटर लंबा और 3.6 मीटर ऊंचा है, जिसे  8 घोड़ों की मदद से खींचा जाता है। इस खास रथ को किंग जॉर्ज (III) के वास्तु सलाहकार सर विलियम चेम्बर्स ने डिजाइन किया और सैमुअल बटलर ने इसका निर्माण किया था।

PunjabKesari
1762 में तैयार हुए इस खास रथ को बनाने में दो साल से ज्यादा का समय लगा था। यह रथ जितना खूबसूरत बाहर से है, उतना ही खूबसूरत भीतर से भी है जिसे बनाने में मखमल और साटन के कपड़े का इस्तेमाल किया गया है। सदियों के रखरखाव के चलते  इस भव्य रथ पर सोने की कम से कम सात परतें चढ़ चुकी हैं।

PunjabKesari
अगर इस रथ को गौर से देखा जाए तो इस पर उकेरी गई हर कला ब्रिटेन के इतिहास को श्रद्धांजलि देती है दिखाई देती है। बता दें कि 96 साल की महारानी एलिजाबेथ पहली ब्रिटिश सम्राट हैं, जिन्होंने 70 साल शासन किया है

PunjabKesari
2 जून 1953 को अपने राज्याभिषेक के बाद महारानी एलिजाबेथ द्वितीय बकिंघम पैलेस में बालकनी पर खड़ी हुई थी। इसके बसद वह  द्वितीय समारोह में शिरकत करने और लोगों से मिलने के लिए इसी सोने के रथ से रवाना हुई थी।

PunjabKesari

 हजारों शाही समर्थकों में उस वक्त खुशी की लहर दौड़ गई जब 70 ब्रिटिश सैन्य विमानों का ‘फ्लाई पास्ट’ देखने खुद महारानी और शाही परिवार के अन्य वरिष्ठ सदस्य बकिंघम पैलेस की बालकनी में आए। कार्यक्रम के दौरान “कुछ असहजता” का अनुभव करने के बाद महारानी ने चर्च के कार्यक्रम में शामिल नहीं होने का फैसला किया है।

PunjabKesari

 उनके स्थान पर प्रिंस चार्ल्स कार्यक्रम में मौजूद रहे। सेंट पॉल चर्च में शाही परिवार के सदस्य, वरिष्ठ राजनेता, राजनयिक और 400 से अधिक आवश्यक सेवा से जुड़े कर्मी, धर्मार्थ स्वयंसेवक और सशस्त्र बलों के सदस्यों के शामिल हुए, जिन्हें समुदाय के लिए उनकी सेवा के सम्मान में आमंत्रित किया गया है।
 

Related News