30 NOVMONDAY2020 10:41:37 PM
Life Style

कोरोना काल में भी डटी रहीं ये बहनें, बाली को प्लास्टिक फ्री बनाने की चला रही मुहिम

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 07 Jul, 2020 12:49 PM
कोरोना काल में भी डटी रहीं ये बहनें, बाली को प्लास्टिक फ्री बनाने की चला रही मुहिम

कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के देशभर में लॉकडाउन कर दिया गया था। हालांकि अब कई देशों का लॉकडाउन खुल रहा है लेकिन फिर भी लोग सिर्फ जरूरत के लिए ही अपने घरों से बाहर निकल रहे हैं। मगर, इंडोनेशिया की रहने वाली 2 लड़कियां कोरोना काल में भी ऐसा काम कर रही हैं, जो हर किसी के लिए मिसाल है।

बाली द्वीप की सफाई में लगी ये बहनें

दरअसल, इंडोनेशिया की रहने वाली मेलाती और इसाबेल विजसेन कोरोना काल में बाली द्वीप पड़ कचरे को साफ करने में लगी हुई है। इस काम में कुछ स्कूल के बच्चे भी उनका साथ दे रहे हैं। उन्होंने इंडोनेशिया को प्लास्टिक मुक्त करवाने के लिए यह अभियान चलाया है।

PunjabKesari

कोरोना काल में इक्ट्ठा कर रहीं कचरा

वह पिछले कुछ सालों से लगातार बीच की सफाई में लगी हुई है और कोरोना काल में भी वो इस काम से पीछे नहीं हटी। मेलाती का कहना है कि लॉकडाउन की वजह से यह समस्या फिर बढ़ने लगी है। मानसून में समुद्र किनारे प्लास्टिक कचरा बड़ी संख्या में इक्ट्ठा हो जाता है। ऐसे में अगर हम रुक जाते तो हमारी इतने सालों की मेहनत बेकार हो जाती।

PunjabKesari

मानसून में बढ़ जाती है परेशानी

कोरोना के दौर में प्लास्टिक का काफी बढ़ गया है, जिसका असर समुद्र किनारे दिखाई दे रहा है। ऐसे में  मेलाती और इसाबेल दोगुनी स्पीड से काम पर लगी हुई है। वहीं इसाबेल का कहना है कि लॉकडाउन के कारण पर्यावरण को काफी फायदा हुआ लेकिन जलवायु परिवर्तन के मुद्दे पर सरकार को भी एक्शन लेना चाहिए।

PunjabKesari

प्लास्टिक पर रोक लगाने का चलाया अभियान

बाता दें कि मेलाती ने जनवरी में इकोनॉमिक फोरम (दावोस) को सिंगल यूज प्लास्टिक का यूज करने की अर्जी दी थी। वह दुनियाभर की सरकारों से अपील कर रहीं है कि पर्यावरण को बचाने के लिए सख्त कदम  उठाए जाएं। प्लास्टिक बैग्स के खिलाफ मेलाती और इसाबेल ने 'बाय  बाय प्लास्टिक' अभियान साल 2013 में शुरू किया था। इसके बाद से ही वह पर्यावरण को बचाने के लिए कई कदम उठा चुकी हैं।

PunjabKesari

दोनों की कोशिशों से बाली की सूरज तो काफी बदल रही है लेकिन पर्यावरण की सुरक्षा एक ऐसा मुद्दा है, जिसके लिए सिर्फ एक व्यक्ति या सरकार को ही नहीं बल्कि हर किसी को सीरियस लेनी की जरूरत है। यह हर व्यक्ति की जिम्मेदारी है कि पर्यावरण संरक्षण में अपना सहयोग दे।

Related News