01 DECTUESDAY2020 9:17:39 PM
Nari

फेफड़ों के लिए 4 बेस्ट योगासन, बीमारियां रहेंगी दूर

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 23 Mar, 2020 02:45 PM
फेफड़ों के लिए 4 बेस्ट योगासन, बीमारियां रहेंगी दूर

लंबी सांस लेने से फेफड़े मजबूत होते हैं। फेफड़ों में करीब 7.5 करोड़ छोटे-छोटे छिद्र होते हैं। इनका आकार मधुमक्खी के छत्ते जैसा होता है। इन्हें एल्वियो लाइसैक्स कहते हैं। अगर कोई व्यक्तिसामान्य रूप से सांस लेता है तो करीब 2 से 2.5 करोड़ ही छिद्र सक्रिय रहते हैं। बाकी के छिद्र सक्रिय नहीं रहते हैं इसलिए इनमें संक्रमण की आशंका ज्यादा रहती है। नियमित व्यायाम या योग-प्राणायाम से लंबी सांस लेते हैं। इससे सभी छिद्र सक्रिय रहते हैं। प्रायाणाम इसमें अधिक कारगर है। रोजाना तीन बार शंख बजाने से भी फेफड़ों को लाभ मिलता है।

 

प्राणायाम

फेफड़ों की सफाई के लिए प्राणायाम अच्छा आसन है। इसमें गहरी श्वांस लेते हैं। शरीर को पर्याप्त ऑक्सीजन मिलती है जो फेफड़ों को साफ करती है। सांस लेने और छोडऩे का तरीका किसी योग विशेषज्ञ से जरूर सीख लें।

PunjabKesari

कपालभाति

इस क्रिया को रोजाना कम से कम पांच मिनट करें। फेफड़ों की सफाई के साथ नाड़ी की भी सफाई होती है जिससे मन-मस्तिष्क को भी शांति मिलती है। फेफड़ों की ब्लॉकेज खुलता है। नर्वस सिस्टम व पाचन क्रिया भी दुरुस्त होती है।

PunjabKesari

अनुलोम विलोम

यह फेफड़ों की मजबूती के लिए अच्छा आसन है। संपूर्ण शरीर और मस्तिष्क के शुद्धीकरण के लिए अनुलोम-विलोम प्राणायाम उपयोगी है। तन-मन दोनों को तनावमुक्त करता है। सुबह-शाम 10-15 मिनट तक कर सकते हैं।

PunjabKesari

Related News