05 DECSATURDAY2020 2:05:42 AM
Nari

IAS बनने के लिए छोड़ी मैनेजर की नौकरी, सफलता न मिलने पर हो गए ऐसे हालात

  • Edited By Janvi Bithal,
  • Updated: 03 Nov, 2020 04:56 PM
IAS बनने के लिए छोड़ी मैनेजर की नौकरी, सफलता न मिलने पर हो गए ऐसे हालात

देश की युवा पीड़ी का ज्यादातर सपना होता है कि वह पढ़ लिख कर एक बड़ा अधिकारी बने। युवा बच्चे  IAS अफ़सर जैसी पोस्ट हासिल करने के लिए लगातार दिन रात मेहनत करते हैं और फिर जाकर उन्हें कहीं नौकरी मिलती हैं। इस मेहनत के बाद किसी के सफलता मिलती है तो किसी को असफलता। एक ऐसी ही कहानी सामने आई है हैदराबाद की इस महिला की।

मल्टीनेशनल कंपनी की जॉब छोड़ी

दरअसल  हैदाराबाद की एक महिला ने  IAS अफसर बनने के लिए एक अच्छी मल्टीनेशनल कंपनी में HR मैनेजर की जॉब को छोड़ दिया। इसके बाद IAS अफ़सर के लिए ट्राई किया लेकिन सफलता हाथ न लगने के बाद वह डिप्रेशन में जा पहुंची जिसके बाद उसने घर भी छोड़ और आज हालत यह हैं कि वह मांग कर खा रही है और कूड़ा उठा रही है। इस महिला की तस्वीर सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही है। 

PunjabKesari

बुरे हालात में मिली महिला 

खबरों की मानें तो महिला का नाम रजनी है और वह तेलंगाना की रहने वाली है। मिली जानकारी के मुताबिक 23 जुलाई को महिला वारंगल की रजनी टोपा में बुरे हालात में गोरखपुर के तिवारीपुर थाने के पास मिली थी। हालत इतने खराब थे कि वह कूड़ेदान के पास फेंके हुए सूखे चावल बीन कर खा रही थी। आस पास के लोगों ने जब महिला को देखा तो तुंरत जाकर पुलिस को सूचित किया। जिसके बाद मौके पर ही पुलिस वहां पहुंच गई।  

खबरों की मानें तो वह महिला अच्छी अग्रेंजी बोल रही थी वहीं पुलिस ने उसे मातृछाया चैरिटेबल फाउंडेशन भेज दिया, जहां उसका इलाज किया जा रहा है। अब उसकी हालत में सुधार है। 

एमबीए की पढ़ाई की पूरी 

मीडिया रिपोर्टस की मानें तो महिला के पिता ने बताया कि बेटी ने साल 2000 में एमबीए की पढ़ाई पूरी की वो भी फ़र्स्ट क्लास  से। इसके बाद उसका सपना था कि वह IAS बने। लेकिन उसे दोनों ही बार सिविल सर्विसेज में असफलता मिली जिसके बाद वह डिप्रेशन का शिकार हो गई। हालांकि महिला ने डिप्रेशन से बचने के लिए HR की जॉब भी की लेकिन वो भी चली गई। 

Related News