17 JANMONDAY2022 7:11:18 AM
Nari

Corona in Pregnancy: प्रेग्नेंट वुमन को कितना खतरा और Corona Positive आने पर क्या करें?

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 12 Jan, 2022 10:34 AM
Corona in Pregnancy: प्रेग्नेंट वुमन को कितना खतरा और Corona Positive आने पर क्या करें?

कोरोना वायरस की तीसरी लहर देश में तेजी से फैल रही है। ओमिक्रॉन वैरिएंट ने सरकार और वैज्ञानिकों की चिंता बढ़ा दी है। इस वायरस का सबसे ज्यादा असर बच्चों पर हो रहा है। यहां तक कि नवजात भी इसकी चपेट में आ रहे हैं। ऐसे में गर्भवती महिलाओं के मन में चिंता बनी हुई है कि इससे उनके बच्चे को कितना खतरा है और इससे बचाव के लिए क्या करें?

गर्भावस्था और COVID-19 जोखिम क्या हैं?

गर्भवती महिलाओं के लिए COVID-19 का जोखिम कम है। हालांकि, जो महिलाएं गर्भवती हैं या हाल ही में गर्भवती हुई हैं, उनमें COVID-19 से गंभीर बीमारी का खतरा बढ़ जाता है क्योंकि उनकी इम्यूनिटी कमजोर होती है। वहीं, कोविड -19 वाली प्रेग्नेंट वुमन में गर्भावस्था के 37 वें सप्ताह (समय से पहले जन्म) से पहले बच्चे को जन्म देने की संभावना अधिक होती है। एक्सपर्ट के मुताबिक, ऐसी महिलाओं में गर्भावस्था के नुकसान जैसी समस्याओं के लिए जोखिम बढ़ सकता है।

PunjabKesari

क्या बच्चे को हो सकता है कोई नुकसान?

इसके अलावा जिन महिलाओं को मधुमेह हैं, उन्हें भी COVID-19 के कारण गंभीर बीमारी का खतरा अधिक हो सकता है। कुछ शोध बताते हैं कि COVID-19 वाली गर्भवती महिलाओं में भी समय से पहले जन्म और सिजेरियन डिलीवरी होने की संभावना अधिक होती है।

क्या गर्भवती महिलाएं लगवा सकती हैं वैक्सीन?

40,000 से अधिक महिलाओं के एक बड़े अध्ययन से पता चलता है कि गर्भावस्था के दौरान एक COVID-19 वैक्सीन प्राप्त करने से गर्भवती महिलाओं या उनके बच्चों के लिए कोई गंभीर जोखिम नहीं होता है। अध्ययन में शामिल अधिकांश महिलाओं को एमआरएनए वैक्सीन मिला, जैसे फाइजर बायोएनटेक या मॉडर्न COVID-19 वैक्सीन।

प्रेगनेंसी में क्यों दी जा रही वैक्सीन लगवाने की सलाह?

. प्रेगनेंसी में COVID-19 वैक्सीन लगवाने से संक्रमण का खतरा कम होता है।
. इससे भ्रूण की प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है।

प्रेगनेंसी में महिलाएं ऐसे करें देखभाल

. प्रसव पूर्व रक्तचाप मॉनिटर करते रहें
. अगर आप डॉक्टर के पास नहीं जा सकती तो उनसे वर्चुअली यानि कॉल या वीडियो कॉल के जरिए संपर्क में रहें।
. हैल्दी डाइट लेती रहें , ताकि आपकी इम्यूनिटी कमजोर ना हो।
. ज्यादा से ज्यादा आराम करें लेकिन एक्सपर्ट की सलाह से हल्के योग व एक्सरसाइज भी करती रहें।
. अगर आपको लेबर इंडक्शन या सी-सेक्शन के लिए कहा गया है तो अस्पताल जाने से पहले COVID-19 लक्षणों की जांच करवाएं।

PunjabKesari

कोविड गर्भवती महिला इन बातों का रखें ध्यान

. होम आइसोलेट हो जाएं और घर पर भी मास्क पहनकर रखें। अपने डॉक्टर से संपर्क बनाए रखें।
. आंखों, मुंह और नाक को बार-बार ना छूएं।
. जब तक इमरजेंसी न हो, अस्पताल जाने से बचें।
. टीवी चैनलों पर नकारात्मक खबरें देखने से बचें।
. हैल्दी डाइट लें, ताकि इम्यूनिटी बढ़े और शरीर को इस बीमारी से लड़ने में मदद मिले। साथ ही भरपूर नींद लें।
. जितना हो सके मेंटल स्ट्रेस से बचने की कोशिश करें। इसके लिए बढ़िया म्यूजिक सुनें, किताबें पढ़ें।

Related News