26 NOVTHURSDAY2020 4:11:32 PM
Nari

चकला बेलन से जुड़े ये वास्तु टिप्स लाएंगे घर में शांति और बरकत

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 03 Apr, 2020 04:43 PM
चकला बेलन से जुड़े ये वास्तु टिप्स लाएंगे घर में शांति और बरकत

महिलाओं को घर की लक्ष्मी तो रसोईघर को लक्ष्मी का वास स्थान माना जाता है। ऐसे में महिलाओं को किचन की साफ-सफाई ही नहीं बल्कि यहां से जुड़े वास्तु टिप्स भी पता होने चाहिए। वैसे तो रसोई की हर चीज की महत्व रखती हैं लेकिन चकला बेलन राहु का प्रतिनिधित्व करते हैं। ऐसे में इसे सही जगह और सही तरीके से रखना बहुत जरूरी है। चलिए आज हम आपको इससे जुड़ी कुछ ऐसी बातें बताते हैं...

 

चकला बेलन की साफ-सफाई

बहुत सारी महिलाएं चकले और बेलन पर रोटियां बेल कर उन्‍हें ऐसे ही रख देती हैं, जोकि गलत है। रोटी बनाने के बाद कभी भी चकला बेलन को गंदा ना छोड़ें। इससे परिवार के सदस्यों को रोग और धनहानि हो सकती है।

PunjabKesari

चकला बेलन में आवाज न आए

जब भी चकला-बेलन यूज करें कोशिश करें कि उसमें से आवाज न आए। वास्तु की मानें तो चकले से जो आवाज आती है वो धनहानि का कारण बनती हैं। ऐसे में जब भी आप इसका इस्‍तेमाल करें, पहले उसके नीचे एक कपड़ा रख लें, ताकि आवाज ना हो।

चकले-बेलन को रखने का तरीका

वास्‍तु के अनुसार, चकला-बेलन सुखा कर ही रखना चाहिए। साथ ही इसे कभी भी उल्‍टा न रखें। आटे के ड्रम या बर्तनों के बीच में इसे कभी ना रखें। इससे धनहानि होती है। इसे हमेशा अलग व सुखाकर रखना चाहिए।

PunjabKesari

इन दिन ना खरीदें चकला-बेलन

अगर आप लोहे या स्‍टील का चकला-बेलन खरीद रही हैं तो शनिवार को न खरीदें। लकड़ी का चकला-बेलन मंगलवार व शनिवार के दिन न लें। चकला जब भी खरीदें, बुधवार के दिन ही खरीदें।

कौन-सा चकला-बेलन है बेहतर

वास्तु के अनुसार, स्टील का चकला-बेलन यूज करना अच्छा माना गया है। वहीं लकड़ी के चकला-बेलन से परिवार की सेहत पर असर पड़ता है। दअरसल, इसमें फफूंद लगने का डर रहता है। साथ ही यह तेल भी अधिक सोखता है, जिससे आप बीमार पड़ सकते हैं।

PunjabKesari

Related News