02 DECWEDNESDAY2020 12:18:51 AM
Nari

सोच को सलाम! दरोगा ने लौटा दी दहेज की रकम, दूल्हा बोला- पढ़ी-लिखी बीवी ही असली धन

  • Edited By Janvi Bithal,
  • Updated: 22 Nov, 2020 12:54 PM
सोच को सलाम! दरोगा ने लौटा दी दहेज की रकम, दूल्हा बोला- पढ़ी-लिखी बीवी ही असली धन

दहेज जैसी कुप्रथा आज भी हमारे समाज पर एक काला दाग है। आज अगर एक पिता बेटी के जन्म पर ही पैसे जोड़ने शुरू कर देता है तो उसका कारण कहीं न कहीं दहेज प्रथा है। इसी प्रथा के कारण बहुत सी लड़कियों को दुख देखने पड़ते हैं लेकिन अगर समाज में बुराई है तो अच्छाई भी है। अगर एक तरफ दहेज लेने की मानसिकता रखने वाले लोग हैं तो वहीं दूसरी ओर दहेज लौटाने वाले भी लोग हैं। एक ऐसा ही मामला सामने आया है जहां यूपी पुलिस के सब इंसपेक्टर नेत्रपाल सिंह ने बेटे की शादी में मिले दहेज को लौटा दिया और समाज में एक नई मिसाल पेश कर दी। 

खबरों की मानें तो नेत्रपाल सिंह ने अपने बेटे की शादी में मिलने वाले 11 लाख रूपए दहेज के लौटा दिए। वह मूल रूप से से बड़ागांव थाना क्षेत्र के मिर्जापुर के रहने वाले है जो कि बागपत जिले के थाने में बतौर एसएसआ तैनात हैं। मीडिया रिपोर्टस की मानें तो उनका परिवार कोतवाली सदर बाजार वैशाली विहार में रहता है। नेत्रपाल सिंह का बेटा मध्यप्रदेश में सरकारी टीचर है और उसकी शादी हरियाणा के यमुनानगर स्थित खानपुर गांव निवासी राजपाल सिंह की बेटी शीतल से हुई है। 

PunjabKesari

सब के सामने लौटा दिया दहेज 

वहींं बेटी की शादी पर पिता राजपाल सिंह ने अपने दामाद को शगुन में 11 लाख रूपए दिए लेकिन दूल्हे ने समाज की सभी रीतियों से दूर होकर सभी के सामने अपने ससुर को वो पैसे लौटा दिए। नेत्रपाल सिंह के बेटे ने दहेज की रकम लेने से इंकार करते हुए कहा पढ़ी-लिखी बीएड डिग्री वाली पत्नी ही उनके लिए असली दहेज है। 

अपनी बेटी की शादी में भी नहीं दिया था दहेज 

आपको बता दें कि इस खबर के बाद लोग नेत्रपाल सिंह की इस सोच की बहुत तारीफ कर रहे हैं। इतना ही नहीं नेत्रपाल ने अपनी बेटी की शादियों में भी दहेज नहीं दिया था। अगर ऐसी ही सोच हर एक की हो जाए तो शायद बेटियां किसी को बोझ न लगें। 

Related News