01 DECTUESDAY2020 11:45:56 PM
Nari

श्रीराम जन्मभूमि अयोध्या में 492 साल बाद जलेंगे 5 लाख 51 हजार दीये

  • Edited By Bhawna sharma,
  • Updated: 08 Nov, 2020 02:06 PM
श्रीराम जन्मभूमि अयोध्या में 492 साल बाद जलेंगे 5 लाख 51 हजार दीये

हिंदूओं का पावन त्योहार दिवाली इस साल 14 नवंबर को मनाया जा रहा है। दीवाली का त्योहार अपने साथ ढेरों खुशियां लेकर आता है। वहीं भक्तों द्वारा किए गए लंबे इंतजार के बाद अयोध्या राम मंदिर के निर्माण कार्य की भी नींव रख दी गई है। मंदिर को बनने में अभी समय लगेगा। लेकिन श्रीराम की नगरी अयोध्या में इस बार की दीवाली बेहद खास होने वाली है। भगवान श्रीराम की जन्मभूमि 492 साल बाद दीपों से जगमगाएगी।

PunjabKesari

5 लाख 51 हजार दीये जलाने की योजना

दरअसल, कुछ प्रतिबंध के कारण श्रीराम की जन्मभूमि में दीप जलाए जाना संभव नहीं था। लेकिन इस साल 5 अगस्त को मंदिर के निर्माण कार्य को लेकर किए गए भूमि पूजन के बाद भक्तों में दीवाली के लेकर काफी उत्साह देखने को मिल रहा है। इस बार दीवाली की पूर्व संध्या पर होने वाला दीपोत्सव पिछले सारे रिकाॅर्ड को तोड़ देगा। क्योंकि इस दीवाली पर 5 लाख 51 हजार दीये जलाने की योजना बनाई जा रही है। 

PunjabKesari

साल 2017 से पहले नहीं होता था दीपोत्सव का आयोजन

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की नजर में 11 से 13 नवंबर तक होने वाले दीपोत्सव की तैयारी की जाएगी। वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का कहना है कि अयोध्या को पूरे विश्व स्तर पर पर्यटक स्थल के तौर पर स्थापित किया जाएगा। साल 2017 से पहले अयोध्या में दीपमाला नहीं की जाती थी। लेकिन भाजपा सरकार बनने के बाद योगी सरकार के नेतृत्व में दीपोत्सव के आयोजन की शुरूआत हुई।

PunjabKesari

Related News