Twitter
You are hereNari

वैज्ञानिकों ने की नई खोज, स्मार्टफोन से पता चलेगी बच्चे की सेहत

वैज्ञानिकों ने की नई खोज, स्मार्टफोन से पता चलेगी बच्चे की सेहत
Views:- Sunday, January 14, 2018-1:17 PM

छोटे बच्चों की देखभाल बहुत जरूरी होती है क्योंकि बदलते मौसम में उनको सर्दी- जुकाम जैसी समस्याए होने लगती हैं। कुछ बच्चों की यह समस्याएं इतनी गंभीर हो जाती है कि इससे बच्चों को सांस लेने में तकलीफ होती है जिसके कारण कई बार बच्चों की दिल की धड़क रूक जाती है। बच्चे इतने छोटे होते हैं कि वह अपनी समस्या के बारे में बोलकर नहीं बता पाते। एेसे में बच्चों की देखभाल करना थोड़ा मुश्किल हो जाता है। इस मुश्किलों को आसान करने के लिए वैज्ञानिको ने एक एेसी खोज की जिससे बच्चों के दिल की धड़कन का स्मार्टफोन से पता चलाया जा सकता।

 

खबरों के अनुसार इस तकनीक की खोज यूके की ससेक्स यूनिवर्सिटी के रिसचर्स ने की है। इस रिसर्च से वैज्ञानिक ने ऐसी तकनीक की खोज कर ली है, जिसे आसानी से बताया लगाया जा सकता है कि बच्चे की सांसे और दिल की धड़कन ठीक से चल रही है या नहीं। 

 

PunjabKesari

वैज्ञानिकों एक ऐसी ट्यूब बनाने जा रहे हैं जो बच्चों की सांसो को रिकॉर्ड करके मां-बाप को बता देगी कि उनका बच्चा अच्छे से सांस ले पा रहा है या नहीं। इस नली यानी ट्यूब का प्रोटोटाइप बनाया है जिसमें ग्रेफीन, पानी और तेल का मिश्रण होगा। इस मिश्रण की खास बात यह है कि जैसे ही ट्यूब, सांस लेने से या फिर ब्ल्ड प्रेशर बढ़ने से हल्का सा भी खिंचता है तो इस तरल पदार्थ के अंदर कुछ बदलाव हो जाते हैं। इसका साधारण सा मतलब ये है कि सांस लेने की गति या फिर दिल की धड़कनों को रिकॉर्ड किया जा सकता है।   

 

मां- बाप के स्मार्टफोन में एक एप होगी जिसको इस ट्यूब से जोड़ा जाएगा। इससे बच्चे के दिल की धड़कनें ट्यूब में रिकॉर्ड हो जाएगी और जिसकी जानकारी स्मार्टफोन पर मिलेगी। इससे मां- बाप को अपने बच्चे के स्वस्थ और बीमार होने के बारे में पता चलेगा।  रिसचर्स ने बताया कि इस तकनीक द्वारा बच्चों की अचानक से होने वाली मौत पर काबू पाया जा सकता है।

 


फैशन, ब्यूटी या हैल्थ महिलाओं से जुड़ी हर जानकारी के लिए इंस्टाल करें NARI AP

Latest News

Beauty