18 MAYSATURDAY2024 2:08:16 PM
Nari

इस वीकेंड कहीं घूमने का है प्लान तो ये जगह है बेस्ट, खूबसूरती देख आप भी हो जाएंगे फैन

  • Edited By Vandana,
  • Updated: 11 Apr, 2024 02:24 PM
इस वीकेंड कहीं घूमने का है प्लान तो ये जगह है बेस्ट, खूबसूरती देख आप भी हो जाएंगे फैन

अगर आप भी घूमने-फिरने के शौकीन हैं तो हम आपको आज एक एसी जगह के बारे में बताने जा रहे हैं जो के भारत में ही स्थीत है जी हां हम बात कर रहे हैं बैंगलोर की। बैंगलोर को भारत की सिलिकॉन वैली कहा जाता है और अगर आपने बैंगलोर नहीं घूमा तो मतलब कहीं नहीं घूमा। बैंगलोर में घूमने के लिए दिलचस्प जगहों की कोई कमी नहीं है। एसे में अगर आप भी इस वीकेंड कहीं जाने का प्लान बना रहे हैं तो आपको हम बैंगलोर की एसी जगहों के बारे में बताएंगे जोहां आप अपने वीकेंड को खुशियों से भर सकते हैं।

PunjabKesari

बैंगलोर पैलेस- एक दो मंजिला ग्रेनाइट बैंगलोर पैलेस है, जिसे लाखों लोग देखने आते है। इस पैलेस को 1887 में बनाया गया था। वाडेयार राजवंश की जीवन शैली अभी भी लकड़ी की नक्काशी, मनोरम वास्तुकला, बेल से ढकी दीवारों, अलंकृत स्तंभों और मेहराबों और सुंदर झूमरों में स्पष्ट है।

बन्नेरघट्टा राष्ट्रीय उद्यान- लगभग 104 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ यह पार्क बैंगलोर से 21 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यहां पर आप कई तरह के वन्य जीव देख सकते हैं जिसमे सियार, लोमड़ी, हाथी, तेंदुआ, जंगली सुअर, हिरण, भालू, शेर और रॉयल बंगाल टाइगर आदि शामिल हैं। यहां का शान्त और सुनहरा वातावरण पर्यटकों को बेहद लुभाता है।

टीपू सुल्तान का समर पैलेस- ये महल गर्मियों के दौरान टीपू सुल्तान के ठहरने के लिए बनाया गया था। निर्माण टीपू सुल्तान के पिता हैदर अली ने बैंगलोर किले की दीवारों के भीतर शुरू किया था।

PunjabKesari

कब्बन पार्क- बैंगलोर में स्थित कब्बन पार्क 300 एकड़ क्षेत्र में फैला हुआ है। कब्बन पार्क में लगभग 6000 से भी अधिक पेड़ों का घर है। कब्बन पार्क में ना केवल प्राकृतिक सौंदर्य है। कब्बन पार्क में एक बेहद आकर्षक “द बैंगलोर एक्वेरियम” है, जो कि भारत का दूसरा सबसे बड़ा मछली घर है। शुरुआत में कमल पार्क 100 एकड़ में फैला हुआ था, लेकिन बाद में इसे 300 एकड़ तक बढ़ा दिया पुराने समय में इस पार्क को “मीड्स पार्क” के नाम से जाना जाता था।

लाल बाग- लाल बाग शहर के मध्य में 240 एकड़ क्षेत्र में फैला है जिसमे पौधों की लगभग 1,854 प्रजातियाँ पाई जाती हैं। यह 1760 में हैदर अली द्वारा कमीशन किया गया था और उनके बेटे टीपू सुल्तान द्वारा पूरा किया गया था। उद्यान में फ्रेंच, फारसी और अफगानी मूल के दुर्लभ पौधे हैं और इन्हें सरकारी बॉटनिकल गार्डन का दर्जा प्राप्त है।

इस्कॉन मंदिर- ये एक जबरदस्त वास्तुकला के साथ, मंदिर भगवान कृष्ण के भक्तों के लिए कई गतिविधियों के आयोजन के लिए जाना जाता है। मंदिर असाधारण आध्यात्मिक पर्यटन स्थलों में से एक है जिसे एक ही दिन में देखा जा सकता है और यह शहर के केंद्र से केवल 100 किलोमीटर दूर है।

उलसूर झील -उल्सूर झील एक विशाल झील है जो 50 हेक्टेयर के क्षेत्र में फैली हुई है। उल्सूर झील का निर्माण सर लेविन बेंटम बॉरिंग ने किया था, जो उस समय बैंगलोर के आयुक्त थे। अपनी प्राकृतिक सुंदरता और शांत वातावरण के कारण, उल्सूर झील पिकनिक और प्रकृति प्रेमियों के लिए समय बिताने के लिए अच्छी जगह है।

PunjabKesari

जवाहर लाल नेहरू तारामंडल-जीवन की उत्पति, ग्रह कैसे विकसित होते हैं, अंतरिक्ष अभियान, ग्रहण कैसे होता है, गुरुत्वाकर्षण कैसे काम करता है आदि विज्ञान से जुड़ी रोचक जानकारी यह तारामंडल बताता है। अगर आप विज्ञान में रुचि रखते हैं तो इस तारामंडल को देखने जाना चाहिए।

जेपी पार्क-पार्क में चार झीलें, 25 एकड़ का लॉन और 250 से अधिक विभिन्न प्रकार के पौधे और झाड़ियाँ पाई जाती हैं। इस स्थान के आकर्षण में विदेशी जलीय प्रजातियां, एक नर्सरी, एक प्रकृति केंद्र, एक प्रदर्शनी प्लाजा और एक एम्फीथिएटर शामिल हैं।
 

Related News