26 SEPSUNDAY2021 2:18:25 PM
parenting

बदलते मौसम में बच्चे का यूं रखें ख्याल

  • Edited By Shiwani Singh,
  • Updated: 31 Jul, 2021 12:21 AM
बदलते मौसम में बच्चे का यूं रखें ख्याल

मौसम बदल रहा हो तो अपने ख्याल  के साथ-साथ बच्चों का ख्याल रखना बेहद ज़रूरी हो जाता है। जरा सी लापरवाही आपके लाडले की सेहत के लिए नुक्सानदायक साबित हो सकती है। इसलिए मानसून के मौसम में पेरैंट्स की जिम्मेदारी बढ़ जाती है। आपको बताते हैं इस मौसम में बच्चों को स्वस्थ रखने के लिए किन बातों का ध्यान रखना चाहिए...

साफ-सफाई

मानसून के मौसम में जगह-जगह पानी खड़ा होने और कीचड़ के कारण गंदगी रहती है जिसमें कई तरह के जर्म्स हो सकते हैं। इसी मौसम में मच्छरों के साथ-साथ कई तरह से कीड़े-मकौड़े पैदा हो जाते हैं।ऐसे में घर और आस-पास की सफाई का खास ख्याल रखें। घर के फर्श को धोने के लिए फिनाइल का इस्तेमाल करें क्योंकि बच्चे घर में अक्सर फर्श पर बैठ जाते हैं, जिससे उन्हें इंफैक्शन का खतरा रहता है। बाहर से आने के तुरंत बाद उनके हाथ धुलाएं। बच्चों के सोने और बैठने वाली जगहों की साफ-सफाई का भी विशेष ध्यान रखें।

खिलाएं घर का खाना

PunjabKesari

बरसात के मौसम में कई तरह के बैक्टीरिया पनपने लगते हैं। ऐसे में सही यही होगा कि बच्चों को बाहर का बिलकुल भी कुछ न खाने दें।
उन्हें घर में बना खाना ही खिलाएं। ज्यादा देर रखा हुआ खाना भी अवॉइड ही करें। हां, मौसमी फल जरूर दिए जा सकते हैं। इससे बच्चों में रोगों से लड़ने की शक्ति बढ़ेगी।

भीगने से बचाएं

PunjabKesari

बारिश के मौसम में भीगना आम बात है। यदि ऐसा हो जाए तो बच्चों को तुरंत साफ पानी से नहलाएं और उसके बाद साफ-सुथरे कपड़े पहनने को दें। नहलाने के बाद उन्हें काढ़ा जरूर पिलाएं। कोशिश करें ऐसे मौसम में बच्चों को कॉटन के कपड़े ही पहनाएं।

उबला हुआ पानी पिलाएं

मानसून के मौसम में बच्चों में संक्रमित होने की संभावना ज्यादा होती है। वैसे भी पानी से इंफैक्शन होने का खतरा ज्यादा रहता है।
ऐसे में हो सके तो बच्चों को फिल्टर्ड या फिर उबला हुआ पानी ही पीने को दें। जर्म्स से बचने के लिए जर्म्स रिपेलेंट लिक्विड का इस्तेमाल किया जा सकता है।

मच्छरों को न पनपने दें

बारिश के साथ मलेरिया, डेंगू जैसी बीमारियां फैलने लगती हैं। इनका प्रमुख कारण मच्छर हैं। इसलिए घर में और आस-पास मच्छरों को न पनपने दें। कूलर, गमलों और टब आदि में पानी इकट्ठा न होने दें। समय-समय पर साफ-सफाई करती रहें। कोशिश करें बच्चों को मच्छरदानी में सुलाएं।

खान-पान में स्वच्छता रखें

बच्चे खान-पान में गंदगी से ज्यादा प्रभावित होते हैं। बच्चों को जो भी खाने के लिए दें, उसे साफ पानी से अच्छी तरह से धो लें।  भोजन खिलाना हो तो गर्म-गर्म ही परोसें। परोसने से पहले अपने हाथ भी अच्छी तरह से धो लें। बच्चे को हर बार खाना खाने से पहले और खाना खाने के बाद साबुन से हाथ धोने की आदत डालें।

Related News