04 JULMONDAY2022 9:10:51 AM
Nari

मूसेवाला के जाने का गम बर्दाश्त नहीं कर पाया फैन, फिनाइल पीकर की सुसाइड की कोशिश

  • Edited By vasudha,
  • Updated: 01 Jun, 2022 03:39 PM
मूसेवाला के जाने का गम बर्दाश्त नहीं कर पाया फैन, फिनाइल पीकर की सुसाइड की कोशिश

किसी अपने को खोने का गम क्या होता है वो  मशहूर पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की मां से पूछो, जिन्होंने हाल ही में अपने बेटे को खोया है। मूसेवाला के यूं अचानक चले जाने से परिवार के साथ- साथ उनके फैन भी बेहद दुखी हैं। मूसेवाला के जाने का सदमा एक फैन को ऐसा लगा कि उसने खुद को खत्म करने की ही कोशिश कर डाली। बताया जा रहा है कि अभी वह जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रहा है।

PunjabKesari
यह घटना है पंजाब के मोहाली जिले की, जहां साढ़े 17 साल के अवतार सिंह ने फिनाइल पीकर खुदकुशी करने का प्रयास किया। इस घटना के बाद उसे तुरंत फेज-6  सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां उसकी हालत नाजुक बताई जा रही है। बताया जा रहा है कि अवतार सिंह मूसेवाला का बहुत बड़ा फैन था वह अकसर उसी के गाने सुना करता था। मूसेवाला हत्याकांड के बाद वह  गुमसुम सा हो गया था।

PunjabKesari

परिवार वालों को कहना है कि पिछले दो दिन से वह न तो ढंग से खाना खा रहा था और न ही नॉर्मल बिहेव कर रहा था। जब मूसेवाला का अंतिम संस्कार किया जा रहा था तभी  अवतार न घर में पड़ी फिनाइल पीकर सुसाइड की कोशिश की, घर वाले तुरंत उसे अस्पताल ले गए। बताया ताे यह भी जा रहा है कि युवक ने जब खुदकुशी कि उस समय उसने मूसेवाला की ही  टी-शर्ट पहन रखी थी। 

PunjabKesari

 इस युवक ने 10वीं कक्षा के बाद पढ़ाई छोड़ दी थी. उसके माता-पिता दिहाड़ी का काम करते हैं। बता दें कि मूसेवाला (28) की रविवार को गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी। अपने पसंदीदा गायक की अंतिम झलक पाने के लिए पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और चंडीगढ़ समेत अनेक जगहों से बड़ी संख्या में लोग आये थे। मूसेवाला को दूल्हे की तरह सजाया गया था। मां ने उनके बाल संवारे तो पिता ने उनके सिर पर सेहरा के साथ लाल रंग की पगड़ी बांधी।

PunjabKesari

मूसेवाला की अंतिम यात्रा के लिए उनके पसंदीदा ट्रैक्टर को फूलों से सजाया गया और इस पर मूसेवाला को उनके परिवार के एक खेत तक अंतिम संस्कार के लिए ले जाया गया। इसी ट्रैक्टर पर मूसेवाला ने अपने अनेक गानों की शूटिंग की थी। चिलचिलाती धूप और गर्मी के बीच भी लोग मूसेवाला की अंतिम यात्रा में शामिल हुए और इस दौरान उनके माता-पिता हाथ जोड़कर ट्रैक्टर पर खड़े थे। मूसेवाला के पिता बलकौर सिंह ने बड़ी संख्या में गमगीन लोगों को देखकर अपनी पगड़ी तक उतार दी थी। 
 

Related News