27 JUNMONDAY2022 2:15:48 AM
Nari

'हिजाब इस्लाम का हिस्सा नहीं, इसलिए स्कूल में पहननी होगी यूनिफार्म': कर्नाटक HC का फैसला

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 15 Mar, 2022 12:43 PM
'हिजाब इस्लाम का हिस्सा नहीं, इसलिए स्कूल में पहननी होगी यूनिफार्म': कर्नाटक HC का फैसला

कई महीनों से चल रहे हिजाब मामले पर कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है , जिसके मुताबिक अब लड़कियों को स्कूल में यूनिफार्म ही पहननी होगी। कर्नाटक हाई कोर्ट ने फैसला सुनाया है कि हिजाब पहनना इस्लाम में आवश्यक धार्मिक प्रथा का हिस्सा नहीं है। 3 जजों की बेंच ने मंगलवार यानी 15 मार्च को फैसला सुनाया। कई सत्रों के बाद, कर्नाटक एचसी ने मंगलवार, 15 मार्च को फैसला सुनाया कि हिजाब पहनना इस्लाम में आवश्यक धार्मिक अभ्यास का हिस्सा नहीं है।

कोर्ट ने सुनाया अपना अंतिम फैसला

कर्नाटक उच्च न्यायालय ने मंगलवार को मुस्लिम लड़कियों द्वारा शैक्षणिक संस्थानों में हिजाब पहनने की अनुमति देने वाली सभी याचिकाओं को खारिज कर दिया। अंतिम फैसला सुनाते हुए, कर्नाटक एचसी ने कहा कि मुस्लिम महिलाओं द्वारा हिजाब पहनना एक आवश्यक धार्मिक प्रथा नहीं है।

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Nari (@nari.kesari1)

हिजाब धार्मिक प्रथा का हिस्सा नहींः कर्नाटक HC

अदालत का यह सुविचारित मत है कि मुस्लिम महिलाओं द्वारा हिजाब पहनना इस्लामी आस्था में आवश्यक धार्मिक प्रथा का हिस्सा नहीं है। उनका कहना है कि शैक्षणिक संस्थानों द्वारा निर्धारित वर्दी पर छात्र आपत्ति नहीं कर सकते हैं। किसी संस्थान में छात्रों के लिए वर्दी का निर्धारण उचित प्रतिबंधों की श्रेणी में आता है। सरकार के पास GO (सरकारी आदेश) पारित करने का अधिकार है; इसे अमान्य करने का कोई मामला नहीं बनता है।

PunjabKesari

गौरतलब है कि हिजाब विवाद पहली बार 1 जनवरी को जनता के ध्यान में आया, जब कर्नाटक के उडुपी में एक प्री-यूनिवर्सिटी कॉलेज के कुछ मुस्लिम छात्रों को हिजाब पहनकर कक्षाओं में जाने की अनुमति नहीं थी, क्योंकि उन्होंने हिजाब पहने हुए थे। विरोध जल्द ही अन्य कॉलेजों और जिलों में फैल गया। मुस्लिम छात्रों के विरोध में याचिकाएं दायर किए जाने के बाद, कर्नाटक उच्च न्यायालय ने इस मुद्दे पर सुनवाई शुरू की।

Related News