19 JANTUESDAY2021 10:41:31 AM
Nari

Hariyali Teej 2020: गर्भवती हैं और व्रत भी रखना हैं तो इन बातों का रखें ध्यान

  • Edited By neetu,
  • Updated: 22 Jul, 2020 07:18 PM
Hariyali Teej 2020: गर्भवती हैं और व्रत भी रखना हैं तो इन बातों का रखें ध्यान

हरियाली तीज मुख्य रूप से सुहागिन औरतों का त्योहार माना जाता है। इस दिन महिलाएं सोलह श्रृंगार कर खासतौर पर हरे रंग के कपड़े और चूड़ियां पहनती है। मंदिर में जाकर भगवान शिव व माता पार्वती की पूजा कर उनका व्रत रखती है। अपने पति की लंबी उम्र की प्रार्थना करती है। इस उपवास में सभी नियमों का पालन करना बहुत ही जरूरी होता है। मगर कुछ खास परिस्थितियों में ज्यादा ध्यान देने की जरूरत होती है। ऐसे में अगर हम बात करें प्रेगनेंट महिलाओं की तो उन्हें इस व्रत को रखने पर खुद की सेहत का खास ध्यान रखना चाहिए। ताकि गर्भ में पल रहे बच्चे की सेहत को कोई नुकसान न हो। तो चलिए जानते है हरियाली तीज का उपवास रख रहीं गर्भवती महिलाओं को किन बातों का खास ध्यान रखने की जरूरत है। 

nari,woman care,PunjabKesari

शरीर के मुताबिक व्रत रखने का प्लान बनाएं

गर्भवती महिला को इस दौरान अपना खास ध्यान रखने की जरूरत होती है। इस टाइम पीरियड में महिला को विटामिन, आयरन, कैल्शियम आदि सभी जरूरी तत्व सही मात्रा में मिलने जरूरी होते है। ऐसे में इन्हें उपवास रखने से पहले अपनी सेहत के मुताबिक प्लानिंग कर लेनी चाहिए। उन्हें इस बात को पहले ही सोच लेना चाहिए कि कौन सी चीज कब और कितनी मात्रा में खानी है। इसके बारे आप खासतौर पर डॉक्टर की सलाह ले सकते है। ताकि उपवास से आपकी और बच्चे की सेहत को कोई नुकसान न पहुंचे। 

nari, woman care,PunjabKesari

न रखें निर्जला व्रत 

इस हरियाली तीज में गर्भवती महिलाओं को  निर्जला व्रत रखने से बचना चाहिए। नहीं तो बच्चे के विकास में रूकावट आ सकती है। असल में गर्भवती महिलाओं को गर्भ में पल रहे बच्चे की सेहत का ध्यान रखते हुए समय-समय पर कुछ न कुछ खाना चाहिए। इससे बच्चे को मां द्वारा पोषण मिलता है। ऐसे में बच्चे का विकास बेहतर तरीके से होने में मदद मिलती है। इसलिए निर्जला व्रत रखने की जगह फलाहारी व्रत रखना बेहतर होगा।

इन चीजों का सेवन करें कम

उपवास के दौरान बहुत से लोग चाय-कॉफी पीना पसंद करते है। मगर खाली पेट इसका सेवन करने से इसमें मौजूद तत्व पेट से जुड़ी परेशानियां पैदा करते है। इसके साथ ही बात अगर गर्भवती महिलाओं की करें तो उन्हें गर्भावस्था के समय में एसिडिटी, कब्ज, बदहजमी आदि की परेशानियों का सामना करना पडता हैं। ऐसे में खाली पेट इसका सेवन करना प्रेग्नेंसी में नुकसानदाय होता है। 

 

nari, woman care,PunjabKesari

इन चीजों का भी रखें ख्याल 

. गर्भवती महिला झूला ना झूलें। वह झूले पर बैठकर शगुन कर सकती हैं।
. व्रत के दौरान बीच-बीच में सूखे मेवे खाते रहे। इससे आपको जरूरी कैलोरी मिलती रहेगी।
. एक जगह पर काफी समय तक बैठने की जगह थोड़ी-थोड़ी देर बाद टहलते रहें। इससे शरीर में खून का संचार ठीक तरीके से होता रहेगा। 
. कच्ची सब्जियों और ताजे फलों का सेवन करें।
. उपवास में ज्यादा मीठी और रिफाइंड शुगर चीजें खाने से बचे। 


 

Related News