04 DECSATURDAY2021 1:44:49 PM
Nari

डॉक्टरों की बड़ी सफलताः मानव शरीर में सूअर का पहला Kidney Transplant सफल

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 20 Oct, 2021 12:59 PM
डॉक्टरों की बड़ी सफलताः मानव शरीर में सूअर का पहला Kidney Transplant सफल

हर व्यक्ति के शरीर में दो किडनियां होती है। अगर एक खराब हो जाए तो वह दूसरी किडनी के सहारे जिंदा रह सकता है। लेकिन अगर दोनों खराब हो जाए तो व्यक्ति की जान भी जा सकती है। इस स्थिति में डॉक्टर किडनी ट्रांसप्लांट की सलाह देते हैं, जिसमें रोगग्रस्त गुर्दे को स्वस्थ गुर्दे से बदल दिया जाता है। किडनी डोनर मृत या जीवित व्यक्ति हो सकता है लेकिन हाल ही में वैज्ञानिकों ने मानव शरीर में सुअर किडनी ट्रांसप्लांट करने में बड़ी सफलता हासिल की।

मानव शरीर में लगाई गई सूअर की किडनी

जी हां, अमेरिकी डॉक्टरर्स ने एक ब्रेन डैड मरीज के शरीर में सुअर की किडनी ट्रांसप्लांट कर दी जो शरीर में सुचारू रूप से काम कर रही है। इस बड़ी सफलता से किडनी ट्रांसप्लांट के लिए मानव अंगों की कमी को दूर किया जा सकता है। हालांकि ऐसा पहली बार संभव हुआ जब इंसान के शरीर में जानवर की किडनी प्रत्यारोपण की गई हो।

PunjabKesari

पहली बार सफल हुआ प्रयोग

हालांकि इससे पहले भी ऐसे कई कोशिश की गई है लेकिन इंसानी शरीर का इम्यून सिस्टम बाहरी अंगों को स्वीकार नहीं कर पाता है, जिससे ट्रांसप्लांट फेल हो जाता है। मगर, पहली बार किसी इंसानी शरीर ने सुअर की किडनी को अपना लिया है।

ब्रेन डेड मरीज पर किया परीक्षण

यह परीक्षण प्रक्रिया न्यूयॉर्क सिटी में एनवाईयू लैंगन हेल्थ में किया जहां सबसे पहले सुअर के जीन को बदला गया, ताकि मानव शरीर उसे खारिज ना करें। फिर किडनी को एक ब्रैन डेड मरीज में ट्रांसप्लांट किया गया। डॉक्टरों ने बताया कि उस ब्रैन डेड मरीज की किडनी ने पूरी तरह फेल हो गई थी और उसने काम करना बंद कर दिया था। मरीज के परिवार ने भी लाइफ सपोर्ट सिस्टम को हटाने से पहले परीक्षण की अनुमति दे दी थी।

PunjabKesari

90 हजार लोगों को किडनी ट्रांसप्लांट की जरूरत

डॉक्टरों ने बताया कि किडनी को 3 दिन तक मानव शरीर की रक्त वाहिकाओं से जोड़कर रखा गया था, ताकि सफल परिणाम मिलने पर ट्रांसप्लांट किया जा सके। शोध के मानें तो दुनियाभर में 107000 लोग ऑर्गन ट्रांसप्लांट के इंतजार में है। इनमें से करीब 90 हजार लोग सिर्फ किडनी ट्रांसप्लांट करवाना चाहते हैं। एक व्यक्ति को किडनी ट्रांसप्लांट करवाने के लिए करीब 3-5 साल तक इंतजार करना पड़ता है। ऐसें अमेरिकी डॉक्टरों की यह सफलता कई लोगों की जान बचा सकती है।

PunjabKesari

Related News