20 JUNTHURSDAY2024 12:15:04 AM
Nari

शक्ल-सूरत इतनी बिगड़ गई कि कोई पहचाना ही नहीं', एक्सीडेंट ने बदल दिया अनु अग्रवाल का सबकुछ

  • Edited By Manpreet Kaur,
  • Updated: 27 May, 2024 03:37 PM

नारी डेस्क: इंडस्ट्री में ऐसे कई सितारे रहे हैं जो अपनी एक फिल्म से रातों-रात स्टार बन गये लेकिन फिर वो मायानगरी से ग़ायब भी हो गये। कुछ ऐसा ही हुआ आशिक़ी गर्ल अनु अग्रवाल के साथ। लोग उन्हें आज भी आशिक़ी गर्ल के नाम से ही जानते है लेकिन उन्हें देख कर एक बार में पहचान नही पाते। क्योंकि उनके साथ एक ऐसा हादसा हो गया था कि उनकी शक्ल सूरत यहाँ तक ज़िंदगी भी पूरी तरह बदल गई। कई सालों बाद उनहोने कमबैक किया लेकिन कोई उन्हें पहचान नहीं पाया तो कोई देख कर हैरान हो गया। चलिए उन्ही के बारे में बताते हैं कि इतने साल दूर रह कर उन्होंने क्या किया! 

महेश भट्ट ने देखते ही अनु को दे दी थी आशिकी फिल्म

दिल्ली में जन्मी अनु अग्रवाल ने दिल्ली यूनिवर्सिटी से समाजशास्त्र की पढ़ाई की है। मॉडलिंग के बाद उन्होंने 1990 में आई फिल्म 'आशिकी' से बॉलीवुड में कदम रखा और अपनी पहली फिल्म से ही वह स्टार बन गई। निर्देशक-फिल्म निर्माता महेश भट्ट ने जब पहली बार अनु को देखा तो तय कर लिया कि यही फिल्म आशिकी में काम करेंगी और यह फिल्म सुपरहिट भी रही। इस फिल्म के बाद तो अनु  घर के बाहर ऑटोग्राफ लेने वाले लोगों की लाइन लगी गई थी हालांकि, उनकी यह शोहरत लंबे समय तक नहीं रह पाई क्योंकि आशिक़ी जैसी शौहरत उन्हें किसी और फ़िल्म से नही मिली।

PunjabKesari

वर्ल्ड टूर करने के लिए एक्ट्रेस ने बेचा अपना घर

साल 1996 तक फिल्में करने के बाद अनु अग्रवाल ने वर्ल्ड टूर का मन बनाया और जब ये बात उन्होंने अपने असिस्टेंट को बताई तो उन्हें लगा कि एक्ट्रेस को मनोचिकित्सक की जरूरत है। बाद में एक्ट्रेस ने अपना बांद्रा वाला घर और कार बेची। इसके बाद वर्ल्ड टूर पर निकल गई और इसके अध्यात्म से जुड़ गई। वह एक आश्रम में रहकर आध्यात्म ले रही थीं। उन्होंने अपना नाम तक बदल लिया था ।

इस तरह हुआ भयानक कार एक्सीडेंट

इसी बीच उनका एक भयानक कार एक्सीडेंट हो गया और वो कोमा में चली गई। अनु की ज़िंदगी ऐसी भी बदल सकती है किसी ने नही सोचा था। करीब एक महीने बाद जब उन्हें होश आया तो वह खुद को पूरी तरह भूल चुकी थीं। इस हादसे से उबरने में उन्हें कई साल लग गए और तब तक उनका फिल्मी करियर भी खत्म हो चुका था। 

करीब 3 साल तक अनु अग्रवाल का इलाज चलता रहा। अनु ने एक इंटरव्यू में बताया था- मैं शुरु से ही योग करती थी और 1997 में मैंने उत्तराखंड के आश्रम में योगा सीखा। लेकिन इसी बीच, 1999 में मेरा एक्सीडेंट हो गया और मैं कोमा में रही। डॉक्टर ने मेरे पेरेंट्स को कहा कि इसकी मौत कोमा में ही हो जाएगी लेकिन योगा की मदद से मैंने मौत को भी मात दे दी।

PunjabKesari

एक इंटरव्यू में अनु अग्रवाल ने बताया था कि एक्सीडेंट के बाद 2001 में उन्होंने संन्यास ले लिया और अपना सिर मुंडवा लिया एक बैग उठाकर वो इधर-उधर घूमती रही लेकिन जब 2006 में उन्होंने वापसी की तो उनके घर को पूरे मीडिया ने घेर लिया था।

एक्सीडेंट के बाद बदली शक्ल सूरत

एक्सीडेंट के बाद अनु अग्रवाल की शक्ल सूरत ही बदल गई। एक्ट्रेस ने अपनी आत्मकथा भी लिखा ताकि लोग उनकी कहानी जान सकें।जिसमें उनहोने अपने हादसे का दर्द भी बयां किया है। 

PunjabKesari

पर्सनल लाइफ की बात करे तो अनु अग्रवाल की शादी भी नहीं हुई है। उनका एक ब्वॉयफ्रेंड था लेकिन लॉन्ग टाइम रिलेशनशिप की वजह से उससे भी उनका रिश्ता टूट गया। अब इंडस्ट्री से दूर रहकर वह अपना एक फाउंडेशन चलाती है जिसमें वो गरीब बच्चों को मुफ्त में योगा सिखाती हैं। इसके अलावा वह एक पावरलिफ्टर हैं और उन्होंने कई वेट लिफ्टिंग प्रतियोगिताओं में भाग भी लिया है।

Related News