Twitter
You are hereNari

सफेद,लाल या काला, जानिए आपकी सेहत के लिए बेस्ट है कौन-सा चावल

सफेद,लाल या काला, जानिए आपकी सेहत के लिए बेस्ट है कौन-सा चावल
Views:- Tuesday, November 6, 2018-3:32 PM

चावल का सेवन सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में किया जाता है। कुछ लोग उबले तो कुछ बिरयानी खाने के शौकीन होते हैं, इसके अलावा भी इसकी ढेरों डिशेज होंगी जो वर्ल्ड फेमस हैं लेकिन हम इनके स्वाद नहीं बल्कि सेहत के गुणों की बात कर रहे है। सिर्फ सफेद या भूरा ही नहीं बल्कि लाल, काले आदि कई रंगों के चावलों की किस्में भी खाने में इस्तेमाल की जाती है। इसके गुण भी अलग-अलग हैं, आइए जानें किन लोगों को कौन-से चावल की किस्म खाने से फायदा मिलता है। 


चावल के प्रकार
1.सफेद चावल (पचाने में आसान)
जिन लोगों का पाचन क्रिया में गड़बड़ी रहती है, उनके लिए सफेद चावल का सेवन बेस्ट है। पकने के बाद इस चावल के कण मुलायम और यह थोड़े चिपचिपे होते हैं। इस वजह से ये चावल आसानी से पच जाते हैं। 
PunjabKesari
2. ब्राउन राइस ( डायबिटीज कंट्रोल)
ब्राउन राइस का सेवन वैसे तो हर कोई कर सकता है लेकिन डायबिटीज के रोगी के लिए यह बहुत फायदेमंद हैं। इसमें फाइबर, फास्फोरस, सेलेनियम, तांबा, मैंगनीज आदि पोषक तत्वों से भरपूर मात्रा में होते हैं। खाने के बाद यह चावल पचने में बहुत समय लेता है और रक्त में ग्लूकोस की मात्र तीव्रता से नहीं बढने देता। इस तरह डायबिटीज कंट्रोल रहती है। 
 PunjabKesari
3. रेड राइस (दिल के रोगी के लिए बेस्ट)
दिल के रोगी के लिए लाल रंग के चावल बहुत अच्छी डाइट है।  इसे खाने से शरीर में होने वाली जलन, एलर्जी, कैंसर का खतरा कम होता है, इसके अलावा वजन सामान्य रखने, मेटाबॉलिज्म मजबूत बनाने, माइग्रेन, बल्ड प्रेशर कंट्रोल करने के साथ-साथ हार्ट अटैक के खतरे को घटाने में भी यह मदद करता है।

PunjabKesari
4. ब्लैक राइस (लिवर स्वस्थ)  
काले रंग के चावल में फाइबर, एंटी-ऑक्सीडेंट, फाइटोन्यूट्रिएंट्स, फाइटोकैमिकल्स, विटामिन ई, प्रोटीन, आयरन आदि पोषक तत्व भरपूर मात्रा में शामिल होते हैं। शरीर में पोषक तत्वों का संतुलन बनाए रखने के लिए यह बेस्ट ऑप्शन है। कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित रखने, कब्ज, पाचन क्रिया की समस्याओं से छुटकारा और लिवर स्वस्थ रखने में काले चावल बहुत फायदेमंद हैं।
PunjabKesari
चावल के घरेलू उपाय
चावल सेहत से जुड़ी कई परेशानियों को दूर करने में काम करता है। बहुत सारे घरेलू उपायों में इसका इस्तेमाल किया किया जाता है। 

- सीने में जलन, यूरिन इंफैक्शन, चेचक, दस्त में चावल की मांड पीने से बहुत फायदा मिलता है। चावल के मांड में थोड़ा-सा नमक और नींबू का रस मिलाकर भी पी सकते हैं। 

- पाचन संबंधी परेशानी है तो चावल और दाल की खिचड़ी में देसी घी मिलाकर खाने से फायदा मिलता है। बुद्धि के विकास में भी यह बहुत फायदेमंद है। 

- डायरिया की परेशानी में भी चावल असरदायक हैं।

- पेट खराब है तो चावल के साथ दही खाना चाहिए। 

- हैंगओवर होने पर चावल धोकर निकाले पानी में दो चुटकी खाने का सोड़ा, दो चुटकी शक्कर मिलाकर पीने से फायदा मिलता है। 

- माइग्रेन का दर्द है तो सूर्योदय होने पर 25 ग्राम चावल की खिल लेकर इसमें शहद मिलाकर खाएं। इसके बाद सो जाएं, हफ्ते भर में सिर दर्द ठीक हो जाएगा। 

- बच्चे को दस्त लग गए हैं तो उसे चावल का मांड पिलाएं। 


 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
Edited by:

Latest News