16 APRFRIDAY2021 5:10:30 PM
Nari

जरा बचकेः तेज असहनीय दर्द कहीं Cluster Headache तो नहीं, माइग्रेन और इसमें जानिए फर्क

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 28 Feb, 2021 09:32 AM
जरा बचकेः तेज असहनीय दर्द कहीं Cluster Headache तो नहीं, माइग्रेन और इसमें जानिए फर्क

दिनभर काम और तनाव के कारण सिरदर्द जकड़ लेता है। भले ही यह समस्या आम हो लेकिन कई यह दवाइयों से भी ठीक नहीं होता। कई बार लोगों को लगता है कि उन्हें माइग्रेन हो रहा है जबकि ऐसा नहीं है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि सिरदर्द एक या दो नहीं बल्कि 5 तरह का होता है। उन्हीं में से एक है क्लस्टर सिरदर्द (Cluster Headache)। चलिए आपको बताते हैं कि क्लस्टर सिरदर्द क्या होता है और इसका इलाज कैसे किया जाए।

कितनी तरह का होता है सिरदर्द?

. माइग्रेन
. क्लस्टर सिरदर्द
. साइनस वाला सिरदर्द
. टेंशन वाला सिरदर्द
. हैंगओवर
. एक्सर्शनल सिरदर्द
. एयरप्लेन सिरदर्द

PunjabKesari

क्लस्टर सिरदर्द क्या है?

हिस्टामिन हेडएक यानि क्लस्टर सिरदर्द गुच्छे के रूप में होता है जो ज्यादातर 30-40 उम्र की औरतों व युवाओं में अधिक देखने को मिलता है। हालांकि शोध के मुताबिक, यह ज्यादातर पुरुषों को होता है। इसके कारण सिर के एक हिस्से में असहनीय दर्द होता है। हालांकि यह सिर्फ 0.1% लोगों को ही प्रभावित करता है, जो कई दिनों या महीनों तक रह सकता है।

माइग्रेन और क्लस्टर सिरदर्द में फर्क?

-अक्सर लोग क्लसटर सिरदर्द को माइग्रेन या साइनस समझ लेते हैं जबकि इनके बीच काफी अंतर होता है। माइग्रेन पुरुषों के मुकाबले औरतों को ज्यादा होता है, जिसके कारण सिर के बीचों बीच आधे हिस्से में दर्द होता है। यह दर्द 72 घंटे तक बना रह सकता है। वहीं साइनस सिरदर्द सर्दी-जुकाम के कारण होता है, जिसमें आधे सिर, पलकों के ऊपर कभी-कभी दर्द होता है। साथ ही इसमें चेहरे पर भी सूजन आ जाती है।

-जबकि क्लस्टर में सिरदर्द के साथ हल्की चुभन, कनपटी या आंखों के आसपास तेज दर्द, चुभन भी महसूस होती है। यह क्लस्टर सिरदर्द कई महीनों या 1 कुछ घंटों का हो सकता है। इसमें आंसू आना, पलकों का झुक जाना या नाक जमने जैसे लक्षण भी दिखते हैं।

PunjabKesari

दो तरह का होता है क्लस्टर सिरदर्द

यह भी दो तरह का होता है दीर्घकालिक क्लस्टर सिरदर्द, जो लंबे समय लंबे समय तक चलता है और 85-90 % लोगों को प्रभावित करता है। वहीं, दूसरी प्रासंगिक क्लस्टर सिरदर्द एक महीने बाद गायब हो जाता है। तनाव के कारण होने वाला यह सिरदर्द 15-20% लोग को प्रभावित करता है।

 क्लस्टर सिरदर्द के लक्षण

. सिर में अचानक असहनीय दर्द, ते चुभन व दर्द
. नाक बंद होना
. आंखों का लाल होना, आंसू आना
. पलकों ऊपर दर्द व सूजन
. दर्द में बेचैनी महसूस करना।
. हल्की रोशनी होने पर चिढ़चिढ़ापन
. आंखों की पुतली में दर्द
. चेहरे पर लालपन या ज्यादा पसीना आना
. चेहरे के एक तरफ गर्दन से लेकर सिर में दर्द

PunjabKesari

क्लस्टर सिरदर्द के कारण

. अधिक तनाव या कम नींद लेना
. शरीर में कोर्टिसोल और मेलाटोनिन नामक हार्मोन की मात्रा बढ़ना
. धूम्रपान, कोकिन, शराब व नशीली वस्तुओं का सेवन
. शरीर के तापमान में अचानक बदलाव
. ज्यादा तेज रोशनी के संपर्क में घंटों तक रहना
. हवाई यात्रा करने से भी यह दर्द होता है।
. अधिक शारीरिक गतिविधि करने से।
. कुछ दवाइयों का रिएक्शन

क्लस्टर सिरदर्द के बचाव

1. इसके लिए सबसे पहले तो धूम्रपान और अन्य नशीली वस्तुओं से तौबा कर लें।
2. तनाव से दूर रहें और अपनी शारीरिक क्षमता के मुताबिक ही काम करें।
3. अधिक गर्मी से बचें क्योंकि तेज गर्मी के कारण भी यह सिरदर्द हो सकता है।
4. अपनी डाइट में कार्ब्स फूड्स जैसे मक्खन, चीज, क्रीम, सेब, केले, शकरकंदी, चुकंदर, अरबी, आलू, ओट्स, राजमा और ब्राउन राइस शामिल करें। ब्रेड, पास्ता, कुकीज, चावल जैसी चीजों से परहेज रखें।
5. हल्के गुनगुने जैतून, अरंडी या नारियल तेल से मसाज करने पर भी सिरदर्द से आराम मिलेगा। इसके अलावा जैतून तेल को डाइट का हिस्सा भी बनाएं।

Related News