03 OCTMONDAY2022 12:48:06 AM
Nari

किचन में काम आएंगे ये वास्तु टिप्स, नहीं होगी स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं

  • Edited By palak,
  • Updated: 14 Aug, 2022 05:09 PM
किचन में काम आएंगे ये वास्तु टिप्स, नहीं होगी स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं

किचन घर का वह भाग होता है यहां पर परिवार के सदस्यों के लिए खाना बनाया जाता है। किचन में मां अन्नपूर्णा का वास होता है। घर के अलावा किचन के लिए भी वास्तु शास्त्र में कुछ उपाय बताए गए हैं। वास्तु शास्त्रों के अनुसार, यदि इन नियमों का पालन न किया जाए तो आर्थिक और स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का सामना भी करना पड़ सकता है। वास्तु शास्त्र में किचन के लिए भी कुछ वास्तु उपाय बताए गए हैं। तो चलिए जानते हैं इनके बारे में...

आग्नेय कोण में चूल्हा

वास्तु शास्त्र के अनुसार, आग्नेय कोण में चूल्हा होना शुभ माना जाता है। खाना पकाने वाला का मुंह पूर्व दिशा में होना भी आवश्यक माना जाता हैा इससे घर में पैसे का आगमन होता है और परिवार के सदस्यों का स्वास्थ्य भी अच्छा रहता है। 

PunjabKesari

वास्तु दोष होगा दूर 

घर की तरह किचन में भी वास्तु दोष हो सकता है। किचन का वास्तु दोष दूर करने के लिए आप दक्षिण-पूर्व दिशा में लाल बल्ब लगा दें। इस ब्लब को हर समय जलने दें। इससे आपकी किचन का वास्तु दोष दूर हो जाएगा। 

PunjabKesari

एक सीध में न हो किचन और बाथरुम 

वास्तु शास्त्र के अनुसार, बाथरुम और किचन कभी भी एक सीध में नहीं होने चाहिए। इससे परिवार के सदस्यों को स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। इसके अलावा इससे जीवन में भी अशांति ही रहती है। अगर आपका बाथरुम में किचन सामने है तो आप बाथरुम में नमक एक कांच की कटोरी में रख दें। समय-समय पर इसे बदलते भी रहें। 

PunjabKesari

बिना स्नान न पकाएं खाना 

बिना स्नाना खाना कभी नहीं बनाना चाहिए। ऐसा माना जाता है कि इससे आपकी किचन में नेगेटिव एनर्जी का  संचार बढ़ता है। इसके अलावा घर के सदस्यों में भी आलस और चिढ़चिढ़ापन बढ़ जाता है। इसलिए हमेशा स्नान करके ही किचन में जाएं । 

पूर्व या उत्तर की दीवार पर बनाएं स्वास्तिक 

किचन की पॉजिटिव एनर्जी बढ़ाने के लिए आप रसोई की पूर्व या फिर उत्तर की दीवार पर स्वास्तिक का चिन्ह जरुर बनाएं। इस दीवार पर चिन्ह बनाना बहुत ही शुभ माना गया है। 

PunjabKesari

Related News