03 OCTMONDAY2022 10:23:25 PM
Nari

गृहिणियों को राहत: टमाटर के गिरे दाम,  प्याज भी हो सकता है अभी और सस्‍ता

  • Edited By vasudha,
  • Updated: 11 Aug, 2022 05:57 PM
गृहिणियों को राहत: टमाटर के गिरे दाम,  प्याज भी हो सकता है अभी और सस्‍ता

टमाटर के दामों में पिछले कुछ दिनों से बेहद उतार चढ़ाव देखने को मिल रहा है। जिस  टमाटर ने कभी गृहिणियों के किचन का बजट बिगाड़ दिया था अब वह कौड़ी के दाम पर बिक रहा है। पिछले कुछ समय से टमाटर के भाव गिर चुके हैं। वहीं प्याज का भी कुछ ऐसा ही हाल है। दरअसल प्याज और टमाटर भारतीय रसोई में इस्तेमाल होने वाले दो प्रमुख खाद्य पदार्थ हैं।


सवा दो रुपये प्रति किलो बिक रहे टमाटर

टमाटर का हाल यह हो गया है कि कर्नाटक के कोलार जिले में किसान सिर्फ सवा दो रुपये प्रति किलो के हिसाब से टमाटर बेच रहे हैं तो वहीं आंध्र प्रदेश के वायलपाडु मंडी में  किसान सिर्फ 6 से 8 रूपये किलो के रेट पर टमाटर बेचने के लिए मजबूर हैं। इसके अलावा दिल्ली की आजादपुर मंडी में टमाटर का न्यूनतम भाव 4 और अधिकतम 26 रुपये रहा।

PunjabKesari
किसान बेहद परेशान

एक रिपोर्ट के मुताबिक एक एकड़ टमाटर की फसल तैयार करने में 75,000 रुपये खर्च होता है। अगर मंडी में 15 रुपये किलो टमाटर बिके तो किसान की लागत पूरी होती है। लेकिन मंडी में अब कोई व्‍यापारी टमाटर खरीदने को ही तैयार नहीं है, इसलिए किसानों के पास इसे डंप करने के अलावा कोई विकल्प नहीं है। 

PunjabKesari

कभी 100 रुपये प्रति किलो बिक रहा था टमाटर

याद हो कि जून के पहले सप्ताह में टमाटर की कीमत 100 रुपये प्रति किलो तक पहुंच गई थी। उपभोक्‍ता मंत्रालय ने बताया कि टमाटर के भाव एक महीने में ही करीब एक तिहाई नीचे आ गए, जबकि प्‍याज के दाम पिछले साल के मुकाबले 9 फीसदी सस्‍ते हो गए हैं। आने वाले समय में भी प्याज के दाम नियंत्रण में रहे इसके लिए सरकार ने अभी से तैयारी कर ली है। 

PunjabKesari
स्टॉक किया गया प्याज

मंत्रालय की ओर से यह भी कहा गया है कि इस साल प्याज के इस बफर स्टॉक का इस्तेमाल अगस्त से दिसंबर महीने के दौरान बाजार में प्याज की कीमतों को स्थिर रखने के लिए किया जाएगा। बता दें कि हर साल अगस्त से दिसंबर महीने के बीच देश की मंडियों में प्याज की कीमतों में अलग-अलग कारणों से उछाल देखने को मिलता है। उम्मीद है कि इस बार ऐसा नहीं होगा। 
 

Related News