20 MAYMONDAY2024 9:21:23 AM
Nari

झड़ते बालों से छुटकारा दिलाएंगी ये जड़ी बूटियां, जानें कैसे

  • Edited By Vandana,
  • Updated: 20 Apr, 2024 02:01 PM
झड़ते बालों से छुटकारा दिलाएंगी ये जड़ी बूटियां, जानें कैसे

बालों से जुड़ी बहुत सी परेशानीयां हो सकती हैं जिनमें से सबसे बड़ी बालों के झड़ने की हो सकती है।बालों के झड़ने के कई कारण हो सकते हैं। अनुवांशिकी और विटामिन की कमी से लेकर हार्मोन में बदलाव के कारण बाल झड़ सकते हैं। ऐसे में बहुत से प्रोडक्ट के इस्तेमाल से भी हमें इस दिक्कत से छुटकारा नहीं मिल पाता। लेकिन कई शोध में सामने आया है कि जड़ी-बूटी की मदद से बालों को झड़ने से रोका जा सकता है साथ ही इनकी ग्रोथ भी बढ़ाई जा सकती है। इन्हीं के बारे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं जिससे आप मदद ले सकती हैं।

PunjabKesari

आंवला

आप आंवले के तेल या इसके अर्क से सिर की मालिश कर सकते है। 15-20 बालों में लगे रहने के बाद शैंपू से धो सकती है। आंवला टैबलेट या फिर सप्लीमेंट रूप में भी उपलब्ध है। पर ध्यान रखें कि आंवला हर किसी के लिए बालों को बढ़ाने का अच्छा तरीका साबित नहीं होता। कुछ लोगों को इसे बालों पर लगाने से एलर्जी भी हो सकती है।

एलोवेरा

इसमें विटामिन ए (बीटा-कैरोटीन), सी और ई होता है, जोकि एंटीऑक्सिडेंट हैं। इसमें विटामिन बी12, फोलिक एसिड और कोलीन भी होता है। इससे बालों की त्वचा बेहतर होती है, जड़ें मजबूत होती हैं और बालों को भी मजबूती मिलती है। बालों की ग्रोथ बढ़ाने के लिए एलोवेरा जेल या जेल प्रोडक्ट्स चुनें और शैंपू करने से पहले इससे सिर की अच्छी तरह से मालिश करें।
सॉ पाल्मेटो

इसमें कई तरह के एक्टिव कंपोनेंट होते हैं। जब कोई व्यक्ति इसे मौखिक रूप से लेता है, तो जड़ी-बूटी अपना सकारात्मक असर दिखाना शुरू कर देती है। इन बैरीज में मौजूद पोषक तत्व डीटीएच को बालों के रोम को नुकसान पहुंचाने से रोकते हैं। सॉ पाल्मेटो से हेयर फॉलिकल स्वस्थ रहते है और बाल कम झड़ते है। सॉ पाल्मेटो इसे मौखिक रूप से लेने की सलाह दी जाती है। आप लगभग आठ सप्ताह के आसपास अपने बालों की ग्रोथ में कुछ इंपू्रवमेंट जरूर देखेंगे।

PunjabKesari

रोजमेरी तेल

एक रिपोर्ट के अनुसार रोज़मेरी का तेल एंड्रोजेनिक एलोपीसिया पर प्रभावी असर दिखा सकता है। एंड्रोजेनिक एलोपीसिया एक चिकित्सीय स्थिति है, जिसमें स्कैल्प से बाल हमेशा के लिए झड़ जाते हैं। बालों के झड़ने की समस्या और उनके विकास के लिए आप रोजमेरी हेयर ऑयल का इस्तेमाल कर सकते हैं रोजमेरी तेल में पाए जाने वाले एंटीइंफ्लेमेट्री और एंटीमाइक्रोबियल गुण स्कैल्प से जुड़ी खुजली और फ्लेकिंग जैसी समस्याओं से निजात दिलाते हैं। इसमें मौजूद एंटी इंफ्लेमेट्री गुणों के कारण यह बालों की ग्रोथ के लिए भी अच्छा विकल्प है। रोजमेरी तेल की कुछ बूंदों को स्कैल्प पर लगाएं। पांच से दस मिनट तक इससे मसाज करें और फिर तुरंत बाद शैंपू से धो लें।

PunjabKesari

​डंडेलियन रूट

इससे यह सेबोरहाइक , डार्माटाइटिस और डैंड्रफ जैसी सूजन वाली स्कैल्प की स्थिति से परेशान रहने वालों के लिए एक अच्छा सप्लीमेंट साबित होता है। यह बर्डोक रूट के साथ मिलने पर बहुत अच्छी तरह से काम करता है। 10-14 दिनों के अंदर आपको बेहतर परिणाम मिलना शुरू हो जाएंगे।
 

Related News