02 MARTUESDAY2021 5:19:26 PM
Nari

ये इशारे जो कहते हैं कि आपका इम्यून सिस्टम हो गया कमजोर

  • Edited By neetu,
  • Updated: 23 Nov, 2020 06:59 PM
ये इशारे जो कहते हैं कि आपका इम्यून सिस्टम हो गया कमजोर

शरीर को बीमारियों से बचाएं रखने के लिए इम्यूनिटी का तेज होना जरूरी होता है। इससे बेहतर विकास होने के साथ कीटाणुओं, बैक्टीरिया, वायरस आदि से लड़ने में मदद करती है। इसके कमजोर होने पर शरीर का लगातार बीमारियों की चपेट में आने का खतरा बढ़ता है। सर्दियों में खासतौर पर सर्द हवा चलने व ज्यादा ऑयली फूड्स खाने से प्रतिरोधक क्षमता कम होने लगती है। मगर क्या आप जानते हैं कि इम्यूनिटी कमजोर होने पर हमारा शरीर कुछ संकेत देता है? तो चलिए जानते हैं इसके बारे में विस्तार से...

शरीर के विकास में बांधा होना 

अगर बच्चे के विकास में बांधा आ रही है तो यह उसकी प्रतिरोधक क्षमता का कमजोर होने की ओर संकेत करता है। इसके पीछे का कारण सही आहार न मिलना होता है। ऐसे में बच्चे की डाइट में प्रोटीन की मात्रा बढ़ाएं। इसके साथ ही डॉक्टर से संपर्क करके इस बारे में बात करें। 

बार-बार सर्दी -जुकाम होना 

साल में 2-3 बार सर्दी-खांसी व जुकाम का शिकार होना आम बात है। साथ ही इसे ठीक होने में 1 हफ्ता लग जाता है। मगर यह समस्या बार-बार हो तो समझ जाएं कि आपकी इम्यूनिटी कमजोर हो। 

PunjabKesari

रक्त विकार

शरीर में खून की पूरी मात्रा ना होना भी इम्यूनिटी के कमजोर होने का एक कारण होता है। ऐसे में इम्यूनिटी कम होने से एनीमिया, हीमोफिलिया (चोट लगने पर खून जल्दी बहना बंद ना होना), रक्त के थक्के आदि बनने की स्थिति हो सकती है। 

लंबे समय तक पेट से जुड़ी समस्याएं रहना

शरीर को दुरुस्त रहने के लिए पाचन शक्ति का मजबूत होना बेहद जरूरी है। असल में, आंत में बहुत से सूक्ष्मजीव या स्वस्थ बैक्टीरिया पाए जाते हैं जो इम्यूनिटी को बूस्ट करने का काम करते हैं। मगर पाचन तंत्र सही ना होने से पेट फूलना, दस्त, कब्ज आदि की परेशानियां रहती है। इसके कारण इम्यून सिस्टम कमजोर रहता है। 

PunjabKesari

शरीर में सूजन

शरीर के टिश्यूज में बैक्टीरिया, गर्मी या किसी कारण नुकसान होने पर सूजन की परेशानी होने लगती है। ऐसे में इम्यून सिस्टम कमजोर हो धीमी गति से काम करने लगता है। 

त्वचा से जुड़ी समस्याएं

त्वचा व लाल, सफेद चकत्ते या ड्राई रहना आदि भी प्रतिरोधक क्षमता के कमजोर होने की ओर इशारा करता है। 

ज्यादा तनाव लेना 

अधिक सोचना व तनाव लेने से शरीर की कार्य प्रणाली बेहतर तरीके से काम नहीं कर पाती है। ऐसे में इशसे शरीर में सूजन की परेशानी होने के साथ सफेद रक्त कोशिकाओं कम होने लगते हैं। 

हर समय थकान रहना 

बिना कोई भारी काम किए बगैर ही शरीर में थकान व कमजोरी रहना प्रतिरोधक क्षमता के धीमी गति से काम करने की ओर इशारा करता है। 

घाव जल्दी न भरना 

इम्यून सिस्टम कमजोर होने से घाव जल्दी भरने में मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। साथ ही दर्द का ज्यादा अहसास होता है। 

इस तरह करें इम्यूनिटी बूस्ट...

- खाने में प्रोटीन की मात्रा बढ़ाएं। 

- रोजाना योगा, एक्सरसाइज व सैर करें। 

- ज्यादा तलाभुना, ऑयली खाने से परहेज रखें। ताकि शरीर का वजन कंट्रोल रहे। 

- अधिक मात्रा में हरी-सब्जियां, फलों का सेवन करें। 

- देर रात तक जागें ना बल्कि रोजाना 7-8 घंटों की नींद लें। 

- धूम्रपान व अल्कोहल से दूरी बनाएं। 

- स्वस्थ रहने के लिए जरूरत पड़ने पर हाथ धोएं। 

- खाने को बनाने से पहले भी उसे अच्छे से धोएं। 
 

Related News