24 JANSUNDAY2021 1:31:32 PM
Nari

लता मंगेशकर का छलका दर्द: मारने के लिए दिया गया था जहर, 3 महीनों तक बेड पर रहीं

  • Edited By Bhawna sharma,
  • Updated: 28 Nov, 2020 11:03 AM
लता मंगेशकर का छलका दर्द: मारने के लिए दिया गया था जहर, 3 महीनों तक बेड पर रहीं

पिछले कई दशकों से बाॅलीवुड की दिग्गज सिंगर लता मंगेशकर अपनी सुरीली और मीठी आवाज से लोगों के दिलों पर राज करती आ रही हैं। उनकी मधुर आवाज के आज भी लोग दीवाने हैं। लता मंगेशकर के बारे में अक्सर ऐसी चर्चा रही है कि 33 साल की उम्र में उन्हें जहर देकर मारने की कोशिश की गई थी। वहीं अब खुद लता मंगेशकर ने इस किस्से पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यह मेरी जिंदगी का सबसे भयानक दौर था। 

PunjabKesari

मैं खुद चल भी नहीं सकती थी: लता मंगेशकर

हाल ही में दिए एक इंटरव्यू में लता मंगेशकर ने उस किस्से के बारे में बताया, 'हम मंगेशकर्स इस बारे में कभी बात नहीं करते। क्योंकि यह हमारी जिंदगी का सबसे भयानक दौर था। यह किस्सा साल 1963 का है, उस समय मुझे इतनी कमजोरी महसूस होती थी कि मैं बैड से भी बड़ी मुश्किल से उठ पाती थी। ऐसे हालात हो गए थे कि मैं खुद चल भी नहीं सकती थी।' लता मंगेशकर की इस हालत के बाद उनका लंबा इलाज चला था। 

PunjabKesari

इस दौरान लता मंगेशकर से पूछा गया कि क्या सच में डाॅक्टर्स ने उन्हें कह दिया था कि वह अब कभी गा नहीं पाएंगी। इस सवाल का जवाब देते हुए लता मंगेशकर ने कहा, 'यह बात सही नहीं है। डाॅक्टर ने मुझे नहीं कहा था कि मैं कभी नहीं गा नहीं पाऊंगी। हमारे फैमिली डाॅक्टर आर.पी कपूर ने मुझे ठीक किया था उन्होंने मुझसे कहा था कि वो मुझे खड़ी करके रहेंगे। लेकिन मैं पिछले कुछ सालों में हुई गलतफहमी को साफ कर देना चाहती हूं। मैंने अपनी आवाज नहीं खोई थी।' 

लता मंगेशकरल को दिया गया था धीमा जहर

लता मंगेशकर ने आगे कहा, 'मुझे धीमा जहर दिया गया था। लेकिन डाॅ. कपूर के इलाज और मेरे दृढ़ संकल्प के कारण में ठीक हो गई। तीन महीने तक बेड पर रहने के बाद मैं रिकाॅर्डिंग करने के लिए तैयार हो गई थी।' यह पूछे जाने पर कि क्या उन्हें पता था जहर किसने दिया था तो इसका जवाब देते हुए सिंगर ने कहा, 'मुझे पता चल गया था लेकिन हमने उस पर कोई एक्शन नहीं लिया। क्योंकि हमारे पास उनके खिलाफ कोई सबूत नहीं था।' 

PunjabKesari

आपको बता दें लता मंगेशकर का लंबा इलाज चला था। इलाज से ठीक होने के बाद उन्होंने पहला गाना कहीं दीप जले कहीं दिल गाया था। इस गाने के लिए लता मंगेशकर को फिल्म फेयर अवाॅर्ड से सम्मानित किया गया था। 

Related News