18 MAYWEDNESDAY2022 4:47:23 AM
Nari

'वो लड़का मेरे कपड़े उतारता था...' बचपन में कंगना के साथ हुई थी गंदी हरकत

  • Edited By Bhawna sharma,
  • Updated: 25 Apr, 2022 02:52 PM
'वो लड़का मेरे कपड़े उतारता था...' बचपन में कंगना के साथ हुई थी गंदी हरकत

लाॅकअप के कैदी मुनव्वर फारुकी की जिंदगी से जुड़े खुलासे लगातार सामने आ रहे हैं। एक बार मुनव्वर ने चौंकाने वाला खुलासा किया जिसे सुन हर किसी की आंखों में आंसू आ गए। मुनव्वर ने बताया कि बचपन में उनके साथ एक नहीं कई बार गंदी हरकत की गई थी। जिसने यह किया वो उनका रिश्तेदार था। 

मुनव्वर बताते हैं, 'मैं 6 साल का था। तब मेरा कई सालों तक यौन शोषण किया गया था। ऐसा करने वाले मेरे दो रिश्तेदार थे। ऐसा चार-पांच सालों तक चला। मुझे उस समय समझ नहीं आया कि क्या हो रहा है। वह परिवार के काफी करीब थे। फिर जब बहुत ज्यादा हो गया तो उन लोगों को एहसास हुआ कि उन्हें ये सब बंद कर देना चाहिए। मैंने ये बात किसी से शेयर नहीं की क्योंकि मुझे उन लोगों को फेस करना था। एक बार तो मुझे लगा कि मेरे पापा को ये बात पता होनी चाहिए लेकिन उन्होंने उल्टा मुझे ही डांट दिया।'

PunjabKesari

मुनव्वर का सीक्रेट सुनने के शो की होस्ट कंगना रनौत कहती हैं कि ऐसे बहुत से बच्चे हैं जिन्हें शोषण का सामना करना पड़ता है लेकिन वे पब्लिक प्लेटफॉर्म पर इस बारे में बात करने से घबराते हैं। हर किसी को बचपन में गलत तरीके से छुआ गया है। ऐसा मैंने भी एक्सपीरियंस किया है। 

PunjabKesari

कंगना कहती हैं, 'हमारे महोल्ले में छोटी उम्र का लड़का था जो हमसे तीन-चार साल बड़ा था। हम तब बच्चे बहुत छोटे-छोटे थे। वो हम लोगों को बुलाता और हमारे कपड़े उतारता था। हमें चेक करता था। वह मुझे गलत तरीके से छुआ करता था लेकिन मुझे तब पता नहीं था कि इसका क्या मतलब है। हर बच्चा ऐसी चीजों से गुजरता है फिर चाहे उसका परिवार कितना भी सपोर्टिव क्यों न हो। ये बहुत गहरा सदमा होता है खासकर मर्दों के लिए। मुनव्वर तुम काफी साहसी हो जो तुमने इसे सबके सामने शेयर किया।'

PunjabKesari

इससे पहले मुनव्वर ने अपनी मां के बारे में खुलासा करते हुए बताया था कि उनकी मां ने एसिड पीकर आत्महत्या कर ली थी। ऐसा करने से पहले उन्होंने हफ्ते भर से कुछ खाया भी नहीं था। उन्हें अपनी मां की इस हालत के बारे में अंत में पता चला था। मुनव्वर ने कहा था कि उनकी मां ने जीवन में बहुत दुख झेले थे। घर के गुजारे के लिए वे चकली और पापड़ बना-बनाकर बेचती थीं। 

Related News