05 MARFRIDAY2021 5:16:40 AM
Nari

मिथ या सच: क्या सचमुच पीरियड्स में छूने से खराब हो जाता है अचार?

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 17 Feb, 2021 02:45 PM
मिथ या सच: क्या सचमुच पीरियड्स में छूने से खराब हो जाता है अचार?

पीरियड्स को लेकर आज भी भारतीय समाज में लोग कई तरह के अंधविश्वास पर भरोसा करते हैं जैसे इन दिनों किचन में नहीं जाना चाहिए, पौधों को पानी ना देना वगैरह। इसके अलावा ऐसा भी कहा जाता है कि महावारी के समय महिलाओं को अचार नहीं छूना चाहिए नहीं तो वो खराब हो जाएगा। आज भी बहुत सी महिलाएं इस नियम का पालन करती हैं लेकिन शायद ही कोई इसके पीछे की सच्चाई से वाकिफ हो।

क्या सचमुच छूने से खराब हो जाता है अचार?

एक्सपर्ट की मानें तो यह धारणा बिल्कुल गलत है कि पीरियड्स में अचार छूने से वो खराब हो जाता है। जबकि कुछ एक्सपर्ट इसे काफी मायनों में सही भी मानते हैं। दरअसल, पुराने जमाने में महिलाओं के पास पीरियड्स में हाइजीन रहने के साधन मौजूद नहीं थे। वह पुराना कपड़ा, पत्थर, पत्ते जैसी चीजें इस्तेमाल करती थी। वहीं, नहाने की मनाही होने के कारण उनके शरीर से बदबू भी आती थी, जिसके वजह से अचार खराब हो जाता था इसके पहले उसे छूने की मनाही होती थी। मगर, आज हाइजीन के साधन होने की वजह से महिलाएं अचार को छू सकती हैं।

PunjabKesari

पैड न होना भी है कारण

पुराने समय में महिलाओं के पास पैड जैसी विकल्प नहीं थे। उस समय महिलाएं इन दिनों में कपड़ा, राख, भूसा व बालू रेत का इस्तेमाल करती थी, जिसके कारण ना सिर्फ इंफेक्शन का डर रहता था बल्कि उनके शरीर से बदबू भी आती थी इसलिए महिलाओं को अचार न छूने को कहा जाता है, ताकि उस तक गंदगी ना पहुंचे।

क्या पीरियड्स में खा सकती हैं अचार?

दरअसल, पीरियड्स में बहुत अधि‍क खट्टी चीजें खाना हानिकारक हो सकता है, खासतौर पर अचार। इनमें सोडियम की मात्रा अधिक होती है, जिसके कारण पेट दर्द, ऐंठन की समस्या बढ़ सकती है। ऐसे में बेहतर होगा कि आप इन दिनों में आचार का सेवन ना करें।

मिथ 2: पहले पीरियड्स में पैड लांघने से महिला जाती है बांझ

इस अंधविश्वास में बिल्कुल भी सच्चाई नहीं कि पहले पीरियड्स में पैड लांघने से कोई महिला बांझ या नि:संतान हो सकती है। मगर, हां अगर आप इस दौरान सही पैड का इस्तेमाल नहीं करेंगे और हाइजीन का ख्याल नहीं रखेंगे तो सर्वाइकल कैंसर  का शिकार जरूर हो सकती है। रिपोर्ट के अनुसार, 62% महिलाएं आज भी पीरियड्स में कपड़े का यूज करती हैं, जिसके कारण भारत में गर्भाशय कैंसर के मामले सबसे अधिक हैं।

PunjabKesari

पीरियड्स में की गई 1 गलती दे सकती है इंफैक्शन

पीरियड्स में सैनेटरी पैड ना लगाने से बैक्टीरियल इंफैक्शन का खतरा रहता है इसलिए इस दौरान स्वच्छता का ख्याल रखना बहुत जरूरी है। वहीं, हर समय नमी और पसीने के संयोजन से भी रैशेज, खुजली और इंफेक्शन का डर रहता है।

हाइजीन का रखें खास ध्यान

-सैनेटरी नैपकिन को दिन में 3 घंटे बाद बदलते रहें और प्राइवेट पार्ट को अच्छे से साफ करें, ताकि किसी भी तरह की स्किन संबंधी समस्या न हो।
-पीरियड्स के समय बहुत तंग कपड़े पहनने से बैचेनी व चिड़चिड़ापन हो सकता है इसलिए इस दौरान ढीले कपड़े पहनें। साथ ही गर्मियों में हमेशा कॉटन की पैंटी पहनें।
-महामारी के समय तला हुआ या बाहर की चीजों का सेवन न करें क्योंकि इससे पेट दर्द बढ़ सकता है।
-मासिक धर्म में डिहाइड्रेशन ना हो इसके लिए ज्यादा से ज्यादा पानी पीती रहें। कोशिश करें कि आप दिनभर में गुनगुना पानी ही पीएं।

PunjabKesari

Related News