19 NOVTUESDAY2019 11:35:38 PM
Nari

पीरियड्स के दौरान ना के बराबर होती है ब्लीडिंग तो क्या करें?

  • Edited By Sunita Rajput,
  • Updated: 26 Jul, 2019 02:19 PM
पीरियड्स के दौरान ना के बराबर होती है ब्लीडिंग तो क्या करें?

महिलाओं के शरीर को प्रजनन के लिए तैयार होने के लिए पीरियड्स अहम भूमिका निभाते हैं। हालांकि हर महिला का पीरियड्स टाइम अलग हो सकता है। मगर बदलते लाइफस्टाइल और गलत खान-पान के कारण अक्सर महिलाओं को अनियमित पीरियड्स, हैवी ब्लीडिंग या ना के बराबर रक्त स्त्राव जैसी समस्याएं आने की शिकायत रही हैं। जब ब्लीडिंग कम होती हैं तो महिलाएं पैड्स बदलने के झंझट से छुटकारा मिलने के कारण खुश होकर इस बात को इग्नोर कर देती है जोकि उनकी सेहत पर भारी पड़ सकती है। इसलिए इसका कारण जानकर सही इलाज करवाए। 

पीरियड्स में कम ब्लीडिंग का कारण 

जिस तरह हॉर्मोनल अंसतुलन से पीरियड में ज्यादा ब्लीडिंग होती है, उसी तरह पीरियड में कम ब्लीडिंग का कारण भी हॉर्मोनल बदलाव हो सकता है। अगर आपको लंबे समय से पीरियड्स के वक्त कम रक्त स्त्राव हो रहा है तो पहले तो डॉक्टर्स की सलाह ले क्योंकि इनका कारण यह भी हो सकते हैं...

मोटापा और गलत डाइट 
स्तनपान की वजह 
बर्थ कंट्रोल दवाइयों का सेवन 
ज्यादा तनाव में रहना 
पोष्टिक डाइट ना लेना 
पोलिसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम 
पीरियड्स के वक्त ज्यादा एक्सरसाइज 

डॉक्टर्स से सलाह देने के साथ-साथ आप कुछ घरेलू नुस्खे भी आजमा सकते हैं जो पीरियड्स को सही तरीके से लाने में आपकी मदद करेंगे। 

इंद्रायण और काली मिर्च

इंद्रायण के 3 ग्राम बीजों का पाउजर बना लें। फिर इसमें 2 चम्मच काली मिर्च मिलाकर 200 ग्राम पानी में उबाल लें। जब पानी उबलकर आधा गाढ़ा हो जाए तो इसे आंच से उतारकर गुनगुना कर ले।हल्का ठंडा होने के बाद इसका सेवन करें। इससे कम ब्लीडिंड की समस्या के साथ-साथ पेट दर्द की शिकायत भी दूर होगी।  

हींग 

हींग के इस्तेमाल से शरीर में प्रोजेस्टेरोन हॉर्मोन की मात्रा बढ़ जाती है, जिस कारण कम ब्लीडिंग की समस्या भी दूर होती है। इसलिए अपनी डाइट में हींग का सेवन जरूर करें। 

गन्ने का रस 

पीरियड्स में कम ब्लीडिंग की समस्या को रोकने के लिए गन्ने का रस बहुत लाभदायक होता है। इसलिए पीरियड्स शुरू होने के 14 दिन पहले से ही हर रोज एक गिलास गन्ने का रस पीना शुरू कर दें। 

दालचीनी

पीरियड्स में ब्लीडिंग ठीक से हो तो दालचीनी का इस्तेमाल करें। दालचीनी के पाउडर को गर्म पानी में मिलाकर दिन में 2-3 बार पिएं। इससे ब्लीडिंग अच्छी होगी और पीरियड्स का दर्द भी दूर रहेगा। 

तील के बीज

तील में ऐसे तत्व मौजूद होते हैं जो हॉर्मोन्स को कंट्रोल में रखने में मदद करते हैं जिस वजह से ब्लीडिंग अच्ठे से होती है। ऐसे में तील के बीजों को गुड़ के साथ पीस लें। फिर पीरियड्स शुरू होने से 2 हफ्ते पहले इसका 1 चम्मच लेकर लगातार सेवन करें। 

अदरक 

ब्लीडिंग बढ़ाने और पीरियड्स दर्द से राहत पाने के लिए अदरक को पतला काटे और पानी में उबालें। फिर अदरक के पानी हल्का गुनगुना करके पिएं। इसका सेवन दिन में 2-3 बार करें। इससे भी काफी फायदा होगा। 
 

Related News