19 JUNWEDNESDAY2024 11:52:15 PM
Nari

फोन चलाने से बच्चों की सेहत पर होता है बुरा असर, पेरेंट्स इस तरह छुड़ाएं आदत

  • Edited By Manpreet Kaur,
  • Updated: 11 Jun, 2024 09:33 AM
फोन चलाने से बच्चों की सेहत पर होता है बुरा असर, पेरेंट्स इस तरह छुड़ाएं आदत

नारी डेस्क: आज के दौर में मोबाइल हमारी जिंदगी का एक अहम हिस्सा बन गया है। बड़ों से लेकर बच्चे तक इसकी गिरफ्त में आ चुके हैं। कुछ बच्चे तो ऐसे होते है जो खाना भी मोबाइल पर गेम्स खेलते हुए खाते है। वहीं कई माता-पिता तो ऐसे भी होते है जो अपने काम में काफी व्यस्त रहते हैं और खुद ही बच्चों को फोन दे देते हैं, ताकि वह अपना काम कर सकें। आपकप बता दें कि उनकी यहीं आदत बच्चों की सेहत के लिए हानिकारक साबित हो सकती है। ऐसे में जरुरी है की पहले खुद में थोड़ा बदलाव करें। कोशिश करें कि बच्चों को फोन न देकर अन्य गतिविधियों में बिजी रखें। चलिए आपको बताते हैं किस तरह बच्चों के फ़ोन चलने की आदत को आप छुड़वा सकती हैं। 

PunjabKesari

मोबाइल से बच्चे की दूरी बनाएं

1 बच्चों का ध्यान स्मार्टफोन से हटाने के लिए आप उन्हें पेन्टिंग या डांसिंग क्लास लगवा दें।
2 कोशिश करें कि अपने बिजी शेड्यूल में बच्चों को आप समय दें।
3 बच्चों के मोबाइल इस्तेमाल करने के लिए एक समय सेट करें।
4 बच्चे के रोने पर उसे मोबाइल देने की जगह कोई खिलौना दें।
5 मोबाइल की जिद करने पर बच्चों को नेट बंद करके ही फोन दें।

PunjabKesari

मोबाइल से बच्चों पर पड़ने वाले दुष्प्रभाव

मोबाइल बच्चों को बहलाने का एक बेहतरीन साधन अवश्य हो सकता है लेकिन बच्चों पर इसके कई दुष्प्रभाव भी पड़ते हैं। मोबाइल फोन के नियमित उपयोग के कुछ नकारात्मक प्रभावों में शामिल हैं।

ट्यूमर का खतरा

मोबाइल के ज्यादा इस्तेमाल से बच्चों में ट्यूमर होने का खतरा बढ़ सकता है। एक अध्ययन से पता लगा है कि मोबाइल बच्चों के ब्रेन ट्यूमर के लिए भी जिम्मेदार हो सकता है।

PunjabKesari

मानसिक विकास में बाधा

मोबाइल के इस्तेमाल से बच्चों के मानसिक विकास में बाधा उत्पन्न हो सकती है। मोबाइल के सामने घंटों बिताने से बच्चा अन्य किसी भी काम में रुचि नहीं लेता है। साथ ही मोबाइल की वजह से वह दूसरों से मिलना-जुलना भी पसंद नहीं करता है। इसकी वजह से बच्चों के मानसिक विकास पर बुरा असर पड़ता है।

Related News